104

लक्ष्य निर्धारित कर लगातार कठिन परिश्रम करने से मिलती है सफलता : विश्नोई

सांचौर। स्थानीय राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय बावरला में आयोजित समाजोपयोगी उत्पादन कार्य एवं समाज सेवा शिविर के द्वितीय सत्र का बौद्धिक सत्र नव चयनित न्यायिक मजिस्ट्रेट आदित्य विश्नोई के मुख्य आतिथ्य में एवं विद्यालय प्रधानाचार्य डॉ. घनश्याम वैष्णव की अध्यक्षता में तथा पूर्व ब्लॉक प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी मंजीराम औदिच्य के विशिष्ठ आतिथ्य में आयोजित किया गया। इस दौरान नवचयनित न्यायिक मजिस्ट्रेट आदित्य विश्नोई का विद्यालय परिवार की ओर से साफा व माला पहनाकर स्वागत किया गया। इस दौरान नव चयनित न्यायिक मजिस्टे्रट आदित्य विश्नोई ने सम्बोधित करते हुए कहा कि अनवरत लक्ष्य के अनुसार शिक्षण किया जाए तो बड़ी से बड़ी परीक्षा भी आसानी से पास की जा सकती है। हमें अभी से हमारा लक्ष्य निर्धारित करना पड़ेगा और उस लक्ष्य को पुरा करने के लिए गुरूजनों की सहायता लेकर सफलता हालिस करनी होगी। पूर्व ब्लॉक प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी मंजीराम औदिच्य ने कहा कि शिक्षा ही सुधार का माध्यम है हमें नैतिक मूल्यों को जीवन में उतरना चाहिए, चरित्र निर्माण से ही व्यक्ति निर्माण होता है। इस दौरान प्रधानाचार्य डॉ. घनश्याम वैष्णव ने कहा कि एसयूपीडब्यलू शिविर में हम चार आदर्श व्यक्तित्व को केन्द्र में रखकर चरित्र निर्माण हेतु प्रयासरत है। जीवन में विवेकानंद, डॉ. राधाकृष्णन, पन्नाधाय व काली बाई के केन्द्र में रखकर शिविर को हमारे जीवन में उतारने का प्रयास कर रहे है। इस अवसर पर सरपंच नागजीराम, एसएमसी अध्यक्ष वीरसिंह, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष सेंधाराम मेघवाल, हड़मतसिंह, छोगसिंह, शैतानसिंह, ईश्वरसिंह, हंसाराम, शारीरिक शिक्षका परमेश्वरी विश्नोई, देवराज चौधरी, खमुराम, किशनलाल, वनाराम, जबराराम, बाबुलाल, घेवरचंद, नारायणलाल, मावाराम, जोराराम, महेश कुमार, सुरेन्द्र विश्नोई सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण व विद्यार्थी मौजूद थे।