नर्मदा के पानी की मांग को लेकर नर्मदा विभाग के सामने किसानों का आमरण अनशन दूसरे दिन जारी

धींगपुरा के किसानों ने मांगों को लेकर एसडीएम को सौंपा ज्ञापन
सांचौर। रबी की फसल को समय पर नर्मदा नहर का पानी देने की मांग को लेकर धींगपुरा के किसानों ने नर्मदा नहर परियोनजा मुख्य अभियंता कार्यालय के समक्ष अनिश्चित कालीन धरना पर बैठें वहीं मांगों को लेकर उपखंड मुख्यालय पर पहुंच कर एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। सौंपे ज्ञापन में बताया कि धींगपुरा जो नेहड क्षेत्र में स्थित है तथा पानी खारा होने से सिंचाई के लिए एक मात्र जरिया नर्मदा नहर की बालेरा वितरिक का पानी है। जो रबी की सफल को समय पर पानी देने से किसानों में नर्मदा विभाग के खिलाफ आक्रोश बढ़ता जा रहा है। ज्ञापन में बताया कि डिग्गीयों का संपूर्ण डिंमाड राशि भी जमा करवा दी गई है मगर इस वर्ष रबी की फसल में हमें एक बंूद भी पानी आज दिन तक नही दिया गया है। जबकि करीब काश्तकारों ने खेतों में बुवाई आदि करके करीबन एक महिना हो गया है। पहले भी पानी हेतु धरना प्रदर्शन किया था, मगर नर्मदा के अधिकारियों द्वारा पानी देने का आश्वासन देकर धरना समाप्त करवाया दिया था, लेकिन उसके बाद भी तक नर्मदा नहर का पानी नही दिया गया। बालेरा गांव तक ही पानी आ रहा है तथा उससे आगे हमारे ग्राम धींगपुरा तक पानी नही दिया जा रहा है। जिसकी मुख्य वजह हमारे हिस्से का पानी नहीं छोडऩे व बीच में प्राईवेंट लोगों को गेट आदि पर रखने से उनके द्वारा आगे पानी नही दिया जा रहा है। समय पर पानी नही दिया गया तो पानी से वंचित रहना पड़ेगा। इस दौरान किसानों ने नर्मदा नहर परियोजना विभाग के समक्ष धरना प्रदर्शन कर आमरण अनशन पर बैठे। इस दौरान भाजपा नेता दानाराम चौधरी, भाजपा वरिष्ठ नेता मोतीराम चौधरी, दुर्गाराम चौधरी, राजेन्द्रसिंह, उमाराम मेघवाल, दिनेश सैन, मगाराम मेघवाल, रविराय चौधरी, रामसीराम, सगताराम प्रजापत, रवजीराम, वरजांगाराम, रणछोडाराम, रूपाराम, भगाराम, थानाराम, पृथ्वीराज, मालाराम, कमलेश कुमार, अनाराम, ओखाराम, लखमाराम, भरत कुमार सहित बड़ी संख्या में किसान मौजूद थे।