टिड्डियां चट कर रही फसलें, वन मंत्री विश्नोई पहुंचे मौके पर, टिड्डी दल का गांवों में हमला जारी,

सांचौर। क्षेत्र के गांवों में टिड्डी का कहर खत्म नहीं हो रहा है। कई दिनों लगातार हो रहे टिड्डी दल के हमले से किसान परेशान है। लगातार टिड्डी दल के आने से किसानों की बच्ची खुशी उम्मीदों पर भी मंगलवार को पानी फेर दिया। अचानक टिड्डियां के हमले से क्षेत्र के किसानों में हडकंप मच गया। किसानों ने टायर जलाकर थाली, डिब्बे, ढोल बजाकर टिड्डियों को उड़ाने प्रयास करते नजर आए, लेकिन जहां भी टिड्डियों ने पड़ाव डाला, वहां पूरा खेत साफ कर दी। क्षेत्र के गांवों में टिड्डी दल ने मंगलवार को हमला कर दिया। किसानों में हड़कंप सा मच गया। टिड्डी दल ने लालजी की डूंगरी सहित आसपास के गांवों में जीरे की फसल चौपट कर दी है। हालात काबू पाने के लिए प्रशासनिक अधिकारियों ने टिड्डी प्रभावित गांवाों में पहुंच कर मोर्चा संभाला। वहीं स्प्रे का छिड़काव किया जा रहा है। गौरतलब है कि कुछ दिनों से टिड्डी दल ने क्षेत्र के किसानों की फसलों को चट कर दिया था। वहीं एक बार फिर टिड्डी दल के पड़ाव से बची हुई जीरे व गेंहू की फसल को लेकर किसानों को चिंता सता रही है। इधर, सूचना मिलते ही वन एवं पर्यावरण राज्यमंत्री सुखराम विश्नोई ने पूर्व निर्धारित दौरे को छोड़ कर टिड्डी प्रभावित क्षेत्र में पहुंचे। साथ ही प्रशासन व राहत दल के साथ टिड्डी नियत्रंण की योजना बनाई। जिसके बाद किसानों व प्रशासनिक अधिकारियों ने ट्रैक्टर लेकर टिड्डी दल पर छिड़काव किया गया। बड़ी संख्या में पहुचे टिड््डी दल ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है। किसान लगातार खेतों में पटाखें छोड़कर, पीपे, ढोल, थाली बजाकर अपनी उम्मीदों को बचाने की जुगत में लगे हुए है। लालजी की डूंगरी सहित आसपास के खेतों में जमकर तबाही मचाई और खेतो को खाली कर दिया, जिससे किसानों में मायूसी छा गई। दूसरी ओर किसानों ने टिड्डियों से बचाव के लिए खेतो में धुंआ करने के साथ तेज ध्वनी व फव्वारे चालू कर टिड्डियों से बचाव को लेकर कई जतन किए, लेकिन फिर भी टिड्डीयों से फसलों को नहीं बचाया जा सका। जिधर देखो खेतों में किसानों का पूरा परिवार जिसमें महिलाएं, बच्चे व बुजुर्ग थालियां बजाते नजर आए। किसानों की खड़ी फसलों के साथ साथ टिड्डियां पशुधन के लिये उगे चारागाहों को भी चट कर रही है। ऐसे में किसानों व पशुपालकों के लिये ये टिड्डियां परेशानी का सबब बनी हुई है। वन मंत्री विश्नोई ने दौरा किया निरस्त क्षेत्र के गांवों में टिड्डी दल के हमले की सूचना मिलने पर वन एवं पर्यावरण राज्यमंत्री सुखराम विश्नोई ने पूर्व निर्धारित दौरे को छोड़ कर टिड्डी प्रभावित क्षेत्र में पहुंचे। मंत्री विश्नोई दौरे को बीच में छोड़कर गांवों में पहुंचे जहां टिड्डी दल द्वारा हमला किया जा रहा है था वहां पर मौके पर पहुंच प्रशासनिक अधिकारियों से जानकारी ली। वहीं मंत्री विश्नोई ने टिड्डी विभाग व स्थानीय किसानों से ट्रैक्टरों को अर्लट कर दिया। जिससे उन्होंने कहा कि किसानों की हर संभव मदद की जाए। यहां पहुंचा टिड्डी दल खेतों, पेड़ों की टहनियों, कंटीली झाडियों पर बैठे टिड्डी दल को किसानों ने भगाने के लिए धुआं, ढोल, पटाखों से जतन करते दिखे। शोर-शराबे के बीच दोपहर बाद धीरे-धीरे उड़ान भरने लगी। क्षेत्र के गांवों में टिड्डी दल का हमला लगातार जारी है। वहीं मंगलवार को क्षेत्र के लालजी की डूंगरी सहित आसपास के गांवों में पड़ाव डाला। जिसमें लालजी डूूंगरी से होते हुए खामराई, कोलियों की बेरी, केआर बंधा कुंआ, हनुवंतपुरा, कुंभीया, टांपी सहित आसपास के गांवों में किसानों के खेतों में पहुंच कर फसलों को चट कर दिया। किसान लोहे के डिब्बें एवं थालियां बजाकर टिड्डी दल को उड़ाने में प्रयास कर रहे है। लेकिन टिड्डी दल का पड़ाव होने से किसानो की लाखों रूपए की फसलें चौपट होने का अंदेशा है।