चितलवाना एसडीएम ने ग्राम पंचायत केरिया, डूंगरी, टांपी व दूठवा का किया निरीक्षण

-एसडीएम ने अनुपस्थित कर्मचारियों को कारण बताओं नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा
मरूलहर न्यूज
सांचौर। चितलवाना उपखंड अधिकारी दूदाराम हुड्डा ने शुक्रवार को ग्राम पंचायत केरिया, डूंगरी, टांपी व दूठवा का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान ग्राम पंचायत केरिया में कोरोना के लक्षण मिलने पर मोहन पुत्र सवाराम जाति प्रजापत की मृत्यु हो गई है। मौका जांच व उपस्थित कार्मिकों को आवश्यक निर्देश दिए गए। पूरे परिवार का सैंपल लेकर निर्धारित गाइड लाइन के अनुसार मृतक के अंतिम संस्कार हेतु निर्देश दिए। जिसके बाद एसडीएम ने ग्राम पंचायत डूंगरी में गैर मुमकिन भाखर पर अवैध खनन की शिकायत पर मौका निरीक्षण किया तथा निरीक्षण के दौरान मौका स्थल पर कुछ लोग अवैध पत्थर तोड़ते पाए गए। वहीं दो-तीन टै्रक्टर मौके पर हिमले तथा बाद में मौके से भाग गए जिस पर ग्रामीणों से पूछताछ करने पर अवगत कराया कि टै्रक्टर चालक सुखराम पुत्र रिड़मलराम भील एवं मांगीलाल पुत्र ताजाराम भील व टै्रक्टर जालाराम पूनिया का बताया गया। जिस पर संबंधित पक्षों को खनन नहीं करने हेतु पाबंद किया गया। पूर्व आदेश से संरक्षक के रूप में नियुक्त थानाधिकारी सरवाना को अवैध खनन ना रोक पाने पर व लापरवाही पर नोटिस स्पष्टीकरण मांगा गया। वहीं पुलिस उप अधीक्षक को अवगत कराया गया। तथा अवैध खनन रोकने हेतु पाबंद करने के निर्देशित किया। तत्पश्चात ग्राम पंचायत टांपी के ग्राम पंचायत का निरीक्षण के दौरान ग्राम विकास अधिकारी भगवती व कनिष्ठ सहायक गीता अनुपस्थित मिली। बाद में उप स्वास्थ्य केन्द्र का निरीक्षण में उप स्वास्थ्य केन्द्र बंद पाया गया तथा एएनएम संजु तथा भगवती अनुपस्थित मिली। एसडीएम ने पटवारी भवन टांपी का निरीक्षण किया तथा पटवारी अमृतलाल उपस्थित मिले। वहीं उचित मूूल्य की दुकान का भी निरीक्षण किया तथा लोगों को ज्यादा भीड़ नही करने हेतु पाबंद किया गया। बाद में ग्राम पंचायत दूठवा में ग्राम पंचायत का निरीक्षण किया गया। इस दौरान ग्राम विकास अधिकारी प्रकाशचन्द्र सैनी व पटवारी दिनेश कुमार उपस्थित मिले। तथा धर्मराज मीना कनिष्ठ सहायक व वगतुदेवी ग्राम पंचायत सहायत अनुपस्थित मिले। एसडीएम ने अनुपस्थित कर्मचारियों को कारण बताओं नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा।

मेडिप्लस हॉस्पिटल में महिला के पेट से 10 किलों की गांठ जटिल ऑपरेशन कर निकाली

c553518ed94d4365b3d853a9752493a7-150×92.jpg

अमृत सोलंकी 9799994203
सांचौर। शहर के नेशनल हाईवे 68, बाड़मेर रोड़ स्थित मेडिप्लस मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पिटल एवं रिसर्च सेंटर में एक महिला के पेट से 10 किलों की गांठ जटिल ऑपरेशन कर बाहर निकाली। मरीज जेठी देवी  गांव दूदू के पैशाब थैली में बहुत बड़ी गांठ थी। वह पूरी तरह खराब हो चुकी थी। इस कारण मरीज को एक साल से पेट में दर्द कर रही थी। इस दौरान गांठ का वजन 10 किलों था तथा मरीज के गांठ का डॉ. नरसीराम देवासी ने जटिल ऑपरेशन कर मरीज की जान बचाई तथा डॉ. नरसीराम देवासी ने जटिल ऑपरेशन करके मरीज को राहत दिलाई। इस दौरान चिकित्सको की टीम में डॉ. वरधाराम देवासी आर्थोपेडिक सर्जन, डॉ. रमेश चौधरी नवजात एवं बाल रोग विशेषज्ञ, डॉ. सोनल पटेल डायबिटीज एवं हृदय रोग विशेषज्ञ, डॉ. मासूम बेन स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ, डॉ. नरेश देवासी, डॉ. अशोक वैष्णव, डॉ. कुलदीप वैष्णव, ओटी स्टाफ बुधाराम माली, अंजू सुथार, हेमंत माली, भवानीसिंह राजपूत, हरजीराम देवासी दहीपुर, ललित देवासी कोमता, मालाराम सिणधरी मौजूद थे।

टिड्डियां चट कर रही फसलें, वन मंत्री विश्नोई पहुंचे मौके पर, टिड्डी दल का गांवों में हमला जारी,

सांचौर। क्षेत्र के गांवों में टिड्डी का कहर खत्म नहीं हो रहा है। कई दिनों लगातार हो रहे टिड्डी दल के हमले से किसान परेशान है। लगातार टिड्डी दल के आने से किसानों की बच्ची खुशी उम्मीदों पर भी मंगलवार को पानी फेर दिया। अचानक टिड्डियां के हमले से क्षेत्र के किसानों में हडकंप मच गया। किसानों ने टायर जलाकर थाली, डिब्बे, ढोल बजाकर टिड्डियों को उड़ाने प्रयास करते नजर आए, लेकिन जहां भी टिड्डियों ने पड़ाव डाला, वहां पूरा खेत साफ कर दी। क्षेत्र के गांवों में टिड्डी दल ने मंगलवार को हमला कर दिया। किसानों में हड़कंप सा मच गया। टिड्डी दल ने लालजी की डूंगरी सहित आसपास के गांवों में जीरे की फसल चौपट कर दी है। हालात काबू पाने के लिए प्रशासनिक अधिकारियों ने टिड्डी प्रभावित गांवाों में पहुंच कर मोर्चा संभाला। वहीं स्प्रे का छिड़काव किया जा रहा है। गौरतलब है कि कुछ दिनों से टिड्डी दल ने क्षेत्र के किसानों की फसलों को चट कर दिया था। वहीं एक बार फिर टिड्डी दल के पड़ाव से बची हुई जीरे व गेंहू की फसल को लेकर किसानों को चिंता सता रही है। इधर, सूचना मिलते ही वन एवं पर्यावरण राज्यमंत्री सुखराम विश्नोई ने पूर्व निर्धारित दौरे को छोड़ कर टिड्डी प्रभावित क्षेत्र में पहुंचे। साथ ही प्रशासन व राहत दल के साथ टिड्डी नियत्रंण की योजना बनाई। जिसके बाद किसानों व प्रशासनिक अधिकारियों ने ट्रैक्टर लेकर टिड्डी दल पर छिड़काव किया गया। बड़ी संख्या में पहुचे टिड््डी दल ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है। किसान लगातार खेतों में पटाखें छोड़कर, पीपे, ढोल, थाली बजाकर अपनी उम्मीदों को बचाने की जुगत में लगे हुए है। लालजी की डूंगरी सहित आसपास के खेतों में जमकर तबाही मचाई और खेतो को खाली कर दिया, जिससे किसानों में मायूसी छा गई। दूसरी ओर किसानों ने टिड्डियों से बचाव के लिए खेतो में धुंआ करने के साथ तेज ध्वनी व फव्वारे चालू कर टिड्डियों से बचाव को लेकर कई जतन किए, लेकिन फिर भी टिड्डीयों से फसलों को नहीं बचाया जा सका। जिधर देखो खेतों में किसानों का पूरा परिवार जिसमें महिलाएं, बच्चे व बुजुर्ग थालियां बजाते नजर आए। किसानों की खड़ी फसलों के साथ साथ टिड्डियां पशुधन के लिये उगे चारागाहों को भी चट कर रही है। ऐसे में किसानों व पशुपालकों के लिये ये टिड्डियां परेशानी का सबब बनी हुई है।
वन मंत्री विश्नोई ने दौरा किया निरस्त
क्षेत्र के गांवों में टिड्डी दल के हमले की सूचना मिलने पर वन एवं पर्यावरण राज्यमंत्री सुखराम विश्नोई ने पूर्व निर्धारित दौरे को छोड़ कर टिड्डी प्रभावित क्षेत्र में पहुंचे। मंत्री विश्नोई दौरे को बीच में छोड़कर गांवों में पहुंचे जहां टिड्डी दल द्वारा हमला किया जा रहा है था वहां पर मौके पर पहुंच प्रशासनिक अधिकारियों से जानकारी ली। वहीं मंत्री विश्नोई ने टिड्डी विभाग व स्थानीय किसानों से ट्रैक्टरों को अर्लट कर दिया। जिससे उन्होंने कहा कि किसानों की हर संभव मदद की जाए।
यहां पहुंचा टिड्डी दल
खेतों, पेड़ों की टहनियों, कंटीली झाडियों पर बैठे टिड्डी दल को किसानों ने भगाने के लिए धुआं, ढोल, पटाखों से जतन करते दिखे। शोर-शराबे के बीच दोपहर बाद धीरे-धीरे उड़ान भरने लगी। क्षेत्र के गांवों में टिड्डी दल का हमला लगातार जारी है। वहीं मंगलवार को क्षेत्र के लालजी की डूंगरी सहित आसपास के गांवों में पड़ाव डाला। जिसमें लालजी डूूंगरी से होते हुए खामराई, कोलियों की बेरी, केआर बंधा कुंआ, हनुवंतपुरा, कुंभीया, टांपी सहित आसपास के गांवों में किसानों के खेतों में पहुंच कर फसलों को चट कर दिया। किसान लोहे के डिब्बें एवं थालियां बजाकर टिड्डी दल को उड़ाने में प्रयास कर रहे है। लेकिन टिड्डी दल का पड़ाव होने से किसानो की लाखों रूपए की फसलें चौपट होने का अंदेशा है।

बावरला में दो दिवसीय ब्लॉक स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता का समापन


सांचौर। युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार नेहरू युवा केंद्र जालोर के तत्वाधान में ब्लॉक के बावरला ग्राम में दो दिवसीय खेलकूद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। खेलकूद प्रतियोगिता के दौरान कबड्डी, वॉलीबॉल, फूटबॉल, रस्साकस्सी एवं एथलेटिक्स खेल आयोजित हुए। जिसमें कबड्डी खेल में प्रथम स्थान अरणाय व द्वितीय स्थान पथमेड़ा रही। वहीं वॉलीबॉल खेल में प्रथम स्थान विष्णु नगर व द्वितीय स्थान बावरला रही। रस्साकस्सी खेल में प्रथम स्थान विष्णु नगर व द्वितीय स्थान सांचौर रही। एथलेटिक्स खेल में प्रथम स्थान रेवाराम राणा व द्वितीय स्थान प्रवीण कुमार रही। फूटबॉल खेल में प्रथम स्थान लियादरा व द्वितीय स्थान बावरला रही। इस दौरान प्रतियोगिता के सभी खेलों में 25 टीमों ने भाग लिया। इस दौरान विजेता खिलाडिय़ों को पुरस्कार वितरित किया गया। इस मौकेे पर उम्मेदसिंह सोलंकी, टीकमाराम भाटी, संतोष शर्मा, भीनमाल चितलवाना ब्लॉक के स्वयंसेवक रामाराम, ब्लॉक के स्वयंसेवक चतराराम, लीलाराम प्रजापत, बाबुलाल बिश्नोई, जयसिंह, प्रवीणसिंह, ईश्वरसिंह, श्रवण कुमार विश्नोई, कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष सेधाराम मेघवाल, चेलाराम, हंसाराम, सांवलाराम देवासी एवं सभी खेलों के खिलाड़ी और ग्रामवासी मौजूद थे।

मेघावा में किसानों का धरना प्रदर्शन सांतवे दिन भी जारी


सांचौर/चितलवाना। किसान संघर्ष समिति मेघवा के नेतृत्व में नर्मदा नहर से सिंचाई के लिए अनकमांड जमीन को कमांड क्षेत्र से जोडऩे की मांग को लेकर मेघावा में किसानों को धरना प्रदर्शन सांतवे दिन भी जारी रहा। वहीं किसानों ने मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा। किसानों ने बताया कि नर्मदा मुख्य नहर के लिए किसानों की ओर से बेशकीमती जमीन देने के बावजूद भी विभाग की ओर से नहर के पास के गांवों के किसानों को पानी नहीं दिया जा रहा है। जिससे किसानों के सिंचाई से वंचित रहना पड़ रहा है। ऐसे में किसानों की ओर से मेघावा, वीरावा, मणोर, अगड़ावा व कुण्डकी को कमांड क्षेत्र में जोडऩे की मांग को लेकर मेघावा में धरना दिया जा रहा है। वहीं किसानों ने जमीन को नहरी कमांड क्षेत्र में जोडऩे की मांग नहीं मानने जाने तक धरना प्रदर्शन जारी रखने की बात कहीं। ज्ञापन में बताया कि नर्मदा नहर के दोनां ओर विभागीय अधिकारियों की लापरवाही से इन गांवों को क्षेत्र को पानी नही दिया जा रहा है। इस मौके पर जगदीश सियाक, ईशराराम विश्नोई, कानाराम, मुकेश सुथार, भंजनलाल, जयराम, जगदीश कुमार, राजुराम, मुकनाराम, देवराम पूनिया, नेनाराम सारण, कालुराम, मोहनलाल, ठाकराराम, बुधाराम, सुरजनराम, जालारााम, तेजाराम, मालाराम, मोहनलाल, भागीरथराम, दुरगाराम, भाखराराम, गोपाल कुमार, जोराराम, लाडूराम, भगवानाराम, किशनाराम, गोपाल कुमार, बाबुलाल, गोंविंदराम, भेराराम, रूगनाथाराम, मांगीलाल, रूपाराम, रामुराम, बाबुलाल, सुरताराम, सोनाराम, पोकराराम, मोहनलाल, पांचाराम, गंगाराम सहित बड़ी संख्या में किसान मौजूद थे।

सांचौर में मेघवाल समाज की 200 प्रतिभाओं को किया सम्मानित, शिक्षा के बिना समाज का विकास संभव नही : गणेशनाथ


सांचौर। शहर के नेशनल हाईवे 68 स्थित पीडब्ल्यूडी डाक बंगले में रविवार को मेघवाल युवा परिषद एवं सामाजिक विकास संस्था द्वारा 11 वां वार्षिक प्रतिभा सम्मान समारोह का आयोजन शिवनाथुपरा मठ के गणेशनाथ महाराज के पावन सानिध्य में एवं प्रधान टाबाराम मेघवाल व रानीवाड़ा प्रधान रमिला मेघवाल के मुख्य आतिथ्य में तथा नगरपालिका अध्यक्ष नीता मेघवाल के अध्यक्षता में एवं मुख्य वक्ता भंवर मेघवंशी स्वतंत्र पत्रकार की मौजूदगी में आयोजित हुआ। वहीं इस दौरान पीआर बोस बीसीएमओ, दिलीप परमार प्रोफेसर, अमृत दहिया सीआई सीमा सुरक्षा बल, नरेश पातलिया आरपी, किशनलाल बामणिया प्रधानाचार्य, आम्बाराम पांचल प्रधानाचार्य पमाणा, पोपटलाल धोरावत प्रधानाचार्य आमली, नगाराम तहसीलदार, रायचन्द कालमा भादरूणा, गंगाराम पारेगी जलदाय विभाग एईएन, जवाराम मेघवाल अध्यक्ष मेघवाल समाज, केशाराम मेहरा धमाणा, भेराराम अरणाय, सेंधाराम बावरला कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष, भामाशाह दलाराम चौहान पावटी, रमेश बोस ठेकेदार अगार, हरिभाई सोलंकी सामाजिक कार्यकर्ता गुजरात, श्रवण परमार शोधकर्ता जेएनयू के विशिष्ट अतिथि में आयोजित हुआ। कार्यक्रम का शुभारंभ बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर की तस्वीर पर माल्यार्पण कर किया गया। इस दौरान गणेशनाथ महाराज ने कहा कि शिक्षा के बिना समाज का विकास सम्भव नही है। उन्होंने सामाजिक बुराईयों को मिटाने का आह्वान किया। प्रधान टाबाराम मेघवाल ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में प्रतिभाओं की कमी नही है। उन्होंने समाज के लोगों को एकजुट होकर समाज हित में कार्य करने की नसीहत देते हुए बालिका शिक्षा पर बल दिया। रानीवाड़ा प्रधान रमिला मेघवाल ने लक्ष्य निर्धारत करते हुए विद्यार्थियों को आगे बढऩे की अपील की। उन्होंने कहा कि सफलता के लिए कोई शॉर्टकट नही होता है। समारोह में रानीवाड़ा प्रधान ने बच्चों को शिक्षित कर उन्हें प्रतिभा निखारने का अवसर देने की बात कही। इस मौके समारोह के मुख्य वक्ता भंवर मेघवंशी ने कहा कि समाज में बदलाव की जरूरत है। इसके लिए समाज को एकजुट होना होगा, साथ ही इसके लिए युवाओं के साथ बुजुर्गों को भी आगे आना होगा। उन्होंने कहा कि समाज में अंबेडकर का सपना तभी साकार होगा जब समाज का हर युवा उच्च शिक्षा प्राप्त करेगा। उन्होंने समाज में अब भी शिक्षा के कम प्रतिशत को लेकर चिंता जताई। उन्होंने समाज के युवाओं से शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढऩे का आह्वान किया। नगरपालिका अध्यक्ष नीता मेघवाल ने कहा कि पढ़ाई के साथ-साथ विद्यार्थियों को खेलकूद में भी आगे रहना चाहिए एवं समाज में नशावृत्ति पर अंकुश लगाने व कुरीतियों को मिटाने का आह्वान करते हुए बालिका शिक्षा पर जोर देने की बात कही। वहीं कार्यक्रम का संचालन प्रकाशचन्द्र व्याख्याता मालवाड़ा ने किया।
200 प्रतिभाओं को किया सम्मानित
मेघवाल युवा परिषद एवं सामाजिक विकास संस्था द्वारा 11 वां वार्षिक प्रतिभा सम्मान समारोह के दौरान समाज के 200 प्रतिभाओं को सम्मानित किया गया। इस दौरान अतिथियों के हाथों से प्रतिभाओं को स्मृति चिन्ह् व प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया।
यह थे मौजूद
इस अवसर पर रमेश कुमार खानवत अध्यक्ष मेघवाल युवा परिषद, मूलाराम वाघेला, रमेश खानवत, जितेन्द्र परमार बिछावाड़ी, डूंगरराम पाहड़पुरा, कमलेश मूलनिवासी, नरेन्द्र भरनावा, धनराज परिहार, एडवोकेट राजेंद्र हिंगड़ा, हीरालाल कारोला, भारमल परमार, शांतिलाल नागवंशी, मेवाराम बाजक, दीपक पंचाल, रमेश कुमार, चेतन बावरला, वसराम गोलासन, सुरजन पारीक, उत्तम सोलंकी, अशोक बी. कारोला, मांगीलाल गोयल, वेरसीराम राणावत सहित बड़ी संख्या में समाज बन्धु मौजूद थे।

सांचौर मेंं मेघवाल समाज प्रतिभा सम्मान समारोह आज, तैयारियों पूर्ण,


सांचौर। मेघवाल युवा परिषद व सामाजिक विकास संस्था सांचौर व चितलवाना द्वारा आयोजित 11 वां मेघवाल प्रतिभा सम्मान समारोह 8 दिसम्बर रविवार को पीडब्ल्यूडी डाक बंगला परिसर में आयोजित होगा। प्रतिभा सम्मान समारोह का आयोजन महंत गणेशनाथ महाराज के सानिध्य मेंं एवं प्रधान टाबाराम मेघवाल व रानीवाड़ा प्रधान रमिला मेघवाल के मुख्य आतिथ्य में एवं मुख्य वक्ता भंवर मेघवंशी स्वतंत्र पत्रकार एवं नगर पालिका अध्यक्ष नीता मेघवाल की अध्यक्षता में आयोजित होगा। मेघवाल युवा परिषद के अध्यक्ष रमेश कुमार खानवत ने बताया कि प्रतिभा सम्मान समारोह को लेकर तैयारियां पूर्ण कर ली है। समारोह में बोर्ड परीक्षा व सरकारी भर्ती ने चयनितों का सम्मान किया जायेगा।

नर्मदा विभाग ने नर्मदा नहर व खेतों से मशीनें व पाईप हटाए, इधर किसानों ने किया प्रदर्शन

सांचौर। क्षेत्र में नर्मदा नहर परियोजना के अधिकारियों ने मंगलवार को टीम के साथ जाकर किसानों के मशीनें व अवैध पाइप हटाए। मंगलवार को विभाग ने चौरा, अरणाय, धानता, भूरा की ढाणी, कारोला, लाछड़ी, जाजूसन, गरडाली, माखुपुरा सहित कई गांवों से जेसीबी की सहायता से किसानों के इंजन व पाईप हटाए गए। रबी की फसल के नियमित जलापूर्ति व किसानों के हिस्से पानी देने व विभाग द्वारा पंप व पाइप हटानेे के विरोध में किसानों ने नर्मदा विभाग पर धरना प्रदर्शन कर विरोध जताया। वहीं किसानों के इंजन व पाईप लाकर विभाग के कार्यालय के बाहर रख दिए। इसके बाद किसानों ने पूर्व विधायक जीवाराम चौधरी के नेतृत्व में बुधवार को नर्मदा नहर परियोजना विभाग में पहुंच कर प्रदर्शन किया। तथा आक्रोशित किसानों ने प्रदर्शन कर उपखंड मुख्यालय पर पहुंच कर उपखंड अधिकारी को ज्ञापन सौंपा। विभाग के अधिकारियों के खिलाफ प्रदर्शन कर ज्ञापन सौंपा। वहीं किसानों ने ज्ञापन में बताया कि सांचौर लिफ्ट कैनाल की शुरूआत 2008 में हुई तब से वर्ष 2018 तक किसान जो लिफ्ट कैनाल के नजदीय थे उन्होंने अपने खेतों तक स्वयं के खर्चे से इंजन व पाइप लाईन डालकर रबी की फसल की सिंचाई शुरू कर दी आज दिन तक यहीं सिंचाई की प्रक्रिया सुचारू रूप से चल रही थी। अब वर्ष 2019 की रबी सीजन से जब किसानों ने अपने खेतों में बुवाई कर दी है लेकिन प्रशासन जबरन उनके पाईप लाईनों एवं इंजनोंं को तोडफ़ोड़ कर रहे है। जिससे किसान कर्ज के बोझ तले दब रहे है। गत वर्ष की तरह इस बार भी नर्मदा नहर विभाग द्वारा नहर में कम पानी छोडऩे के कारण किसानों बार-बार प्रताडि़त किया जा रहा है। समस्या की गंभीरता को देखते हुए इस वर्ष की रबी सीजन हेतु नगर नहर परियोजना प्रशासन द्वारा पर्याप्त मोटरें सुचारू रूप से चलवाकर किसानों को इस रबी सीजन में पानी लेने दिया जाए। ज्ञापन में बताया कि नर्मदा विभाग प्रशासन के द्वारा मंगलवार को किसानों की मशीनें, मोटरें, पाईप लाईन, सेक्शन, पंखे बेवजह तोड़कर किसानों का नुकसान किया गया है। जिसको लेकर बुधवार को किसानों ने नर्मदा नहर परियोजना कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन किया। इस दौरान बड़ी संख्या में किसान मौजूद थे।
किसानों ने किया प्रदर्शन
मंगलवार को विभाग की ओर से नर्मदा नहर से मशीनें व पाइप हटाने के बाद बुधवार को नर्मदा नहर परियोजना कार्यालय में पहुंच कर किसानों ने प्रदर्शन किया। वहीं विभाग की ओर से हटाई गई मशीनों व पाइप को लेकर उपखंड मुख्यालय पर पहुंच कर आक्रोशित किसानों ने विरोध जताते हुए विभागीय अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी कर रोष जताया। वहीं किसान मशीनें व पाइप वापस लेने की मांग पर अड़े रहे। जिस पर जनप्रतिनिधियों ने किसानों की मशीनें व पाइप वापस देने की मांग की। जनप्रतिनिधियों ने किसानों को टेल तक समय पर पानी देने एवं मशीनें व पाइप वापस देने की मांग की। इस दौरान उपखंड मुख्यालय पर पहुंच किसानों ने उपखंड अधिकारी को ज्ञापन सौंपा।
धरना प्रदर्शन करने की दी चेतावनी
विभाग की ओर से टेल तक पानी देने एवं किसानों की मशीनें व पाइप वापस देने की मांग को लेकर जनप्रतिनिधियों ने उपखंड मुख्यालय पर पहुंच कर उपखंड अधिकारी को ज्ञापन सौंपा। तथा जनप्रतिनिधियों ने उपखंड अधिकारी भूपेन्द्र कुमार यादव को कहा कि किसानों को समय पर टेल तक पानी दिया जाए तथा किसानों की जब्त की गई मशीनें व पाइप वापस दिया जाए। जिसको लेकर पूर्व विधायक जीवाराम चौधरी ने किसानों की मांगे पूरी नहीं होने पर उपखंड मुख्यालय के समक्ष भूख हड़ताल व धरना प्रदर्शन करने की चेतावनी दी।

पर्यावरण प्रेमियों ने हिरण को कुत्तों के चंगुल से छुड़ाकर जान बचाई

सांचौर। आमली सरहद में एक हिरण को घेर कर कुत्ते मार रहे थे। पास में ढाणी से प्रकाश सारण व दिनेशकुमार खिलेरी ने हिरण को कुत्तों के चंगुल से छुड़ाकर धमाणा स्थित श्री जंभेश्वर पर्यावरण एवं जीवरक्षा प्रदेश संस्था द्वारा संचालित श्री जंभेश्वर वन्यजीव उपचार केंद्र धमाणा अमृतादेवी उद्यान रेस्क्यू करवाया। घायल हिरण को आसुराम नारणाजी देवासी आदि ने अपनी वाहन से पहुंचने में सहयोग किया। उपचार केंद्र में संस्था के प्रदेश महामंत्री पीराराम धायल, जिला मीडिया प्रभारी दयाराम खीचड़ व पशु चिकित्सा सहायक गोविंदसिंह ने उपचार किया। क्षेत्र में आवारा कुत्तों के आतंक से आये दिन वन्यजीवों मारा जा रहा है।

सांसद पटेल ने लोकसभा में राष्ट्रीय राजमार्गो व पूलों का निर्माण करवाने का उठाया मुद्दा, संसदीय क्षेत्र में राष्ट्रीय राजमार्गो व पुलो का निर्माण करवाये जाये : सांसद पटेल

सांचौर। जालोर-सिरोही लोकसभा सांसद देवजी पटेल ने 17 वीं लोकसभा के द्वितीय सत्र के दौरान शुन्यकाल के तहत झेरडा (गुजरात) से सिरोही राज्यमार्ग को राष्ट्रीय राजमार्ग में निर्माण करवाने, मंडार एवं रेवदर कस्बे के बाईपास सड़क निर्माण, जालोर आहोर मार्ग (एन.एच.325) पर स्थित समपार संख्या सी-48 के स्थान पर उपरी पुल का निर्माण करने, रोहिट-आहोर-जालोर-भीनमाल-करडा-सांचौर नेशनल हाईवे का अतिशिघ्र निर्माण शुरू करने व हिल स्टेशन माउंट आबू के गुरु शिखर तक जाने हेतु भारतमाला परियोजना के तहत सड़क निर्माण करवानेे की मांग रखी। सांसद देवजी पटेल ने लोकसभा में मांग रखते हुए कहा कि गुजरात स्थित झेरडा से सिरोही राज्यमार्ग वाया मंडार, रेवदर होते हुए यह मार्ग राष्ट्रीय राजमार्ग (एनएच 62) से मिल जाता है। झेरडा से सिरोही मार्ग पर दिन प्रतिदिन गाडियों की संख्या बढती जा रही हैं। दोनो तरफ से यह सडक राष्ट्रीय राजमार्ग से मिलने के कारण भारी वाहनों को आवागमन बढता जा रहा हैं। उन्होंने केन्द्रीय मंत्री नितिन गढकरी द्वारा की गई घोषणा का हवाला देते हुऐ झेरडा से सिरोही मार्ग को राष्ट्रीय राज्यमार्ग घोषित करवाने की मांग की। सांसद देवजी पटेल ने लोकसभा में चर्चा के दौरान झेरडा-सिरोही मार्ग पर स्थित मंडार और रेवदर दो घनी आबादी वाले कस्बे है। इन कस्बों के पास दिन मे ट्रॉफिक जाम हो जाना अब आम बात हो गयी हैं। जिससे आम नागरिकों सहित स्कूल जाने वाले छात्रों को और व्यापारियों को काफी परेशानियों का सामना करना पडता है, इसलिए रेवदर और मंडार कस्बे के पास बाईपास सड़क का निर्माण कराया जाए। सांसद देवजी पटेल के लोकसभा में चर्चा के दौरान माउंट आबू स्थित गुरु शिखर को राष्ट्रीय राजमार्ग से जोडऩे कि मांग रखते हुए कहा कि राजस्थान का पर्यटन स्थल एवं हिल स्टेशन माउट आबु को भारतमाला परियोजना के तहत सड़क निर्माण करवाने की भी घोषणा की जा चुकी परन्तु अधिकारियो की लापरवाही के कारण निर्माण कार्य नही हुआ है जिसका अतिशीघ्र निर्माण करवाया जायें। सांसद देवजी पटेल ने लोकसभा में चर्चा के दौरान बताया कि पश्चिम राजस्थान के समदड़ी-भीलड़ी रेल खंड से प्रतिदिन 45-50 मालगाडियां गुजरती हैं। इस स्थिती में लगभग हर आंधे घंटे में एक बार रेलवे क्रॉसिग बंद हो जाता हैं। आपात स्थिती मे वाहन चालकों को ट्रेन के गुजरने के बाद क्रॉसिंग के खुलने का इंतजार करना पडता हैं। उक्त स्थान मुख्यालय जालोर समीप होने के कारण यहा पुरे दिन आवागमन बाधित रहता है तथा क्रोसिंग बंद की वजह कई जाने जा चुकी हैं। उक्त समस्याओं को ध्यान में रखते हुए रेलवे समपार संख्या सी-48 पर पुर्व घोषित ऊपरी पुल का निर्माण जल्द से जल्द किया जायें। सांसद देवजी पटेल ने सदन में बताया कि प्रदेश के जोधपुर संभाग के पश्चिमी क्षेत्र में रोहिट-आहोर-जालोर-भीनमाल-करडा-सांचौर का रास्ता करीब 250 किमी लंबा हैं। यह मार्ग जोधपुर, पाली, जयपुर, अजमेर, ब्यावर एवं दिल्ली को सीधा पश्चिम क्षेत्र से जोड़ता हैं, इस मार्ग से कांडला बंदरगाह, अहमदाबाद जैसे गुजरात के बडे शहरों से सीधा सम्र्पक होता है। साथ ही यह सड़क मार्ग जिले के सभी उपखंड क्षेत्र को जालोर जिला मुख्यालय एवं जोधपुर संभाग से जोड़ता हैं। इस मार्ग पर प्राचीन धार्मिक स्थल होने के साथ-साथ अंतराष्ट्रीय पाक सीमा से जुडऩे वाला मुख्य राजमार्ग हैं। इस सड़क मार्ग कों राष्ट्रीय राजमार्ग में निर्माण के लिए उदयपुर में सड़क परिवहन केन्द्रीय मंत्री द्वारा घोषणा की जा चुकी थी। लेकिन अभी तक इस सड़क के संबंध में किसी भी प्रकार कोई प्रगति नही हुई है। सांसद पटेल ने आम लोगों की भावनाओं तथा क्षेत्र के विकास को मध्यनजर रखते हुए उक्त सड़क मार्ग कों अतिशीघ्र राष्ट्रीय राजमार्ग के रूप में प्रगति के पथ पर आगें बढवानें की मांग की।

राजपुरोहित कर्मचारी संघ सांचौर-चितलवाना द्वारा श्री आत्मानंद नि:शुल्क कोचिंग क्लासेज का शुभारंभ

सांचौर। राजपुरोहित कर्मचारी संघ सांचौर-चितलवाना द्वारा श्री आत्मानंद नि:शुल्क कोचिंग क्लासेज का शुभारंभ पुरोहित छात्रावास में संघ अध्यक्ष दयाराम भड़वल की अध्यक्षता में किया गया। कोचिंग क्लासेज का समय दोपहर 3 बजे से सांय 6 बजे तक रहेगा। दयाराम भड़वल ने कहा प्रतिस्पर्धा के युग में अपने लक्ष्य प्राप्ति हेतु पूर्ण मनोयोग के साथ अध्ययन करें। उन्होंने कहा कि व्यक्ति तीन चीजों को लेकर सरकारी सेवाओं में जाने की कोशिश करता है, क्योंकि सरकारी सेवा ही एक ऐसा जरिया है जिसमें भविष्य तो आर्थिक रुप से सुरक्षित होता ही है साथ ही साथ अच्छा कार्य करने पर मन को संतुष्टि और समाज में मान और प्रतिष्ठा मिलती है जिससे जीवन सुखद हो जाता है। परंतु इस को हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत और लगन जरूरी है। इस दौरान तगाराम दाता ने कहा कि समाज के सहयोग से ही कोचिंग की शुरुआत की गई है जिसका फायदा प्राप्त करें। उन्होंने कहा कि व्यक्ति को जीवन में अपना लक्ष्य पाने के लिए मेहनत और लगन जरूरी है। इस अवसर पर तुलसाराम झोटड़ा, जगदीश पुरोहित कारोला, बाबुलाल रतोड़ा, मफतलाल रावल, प्रवीण अचलपुर, विक्रमसिंह डांगरिया, आसुराम खिरोड़ी, रावलसिंह, पुखराज बिछावाड़ी, अर्जुन कुमार सहित कई बंधु उपस्थित थे।

केरिया में नसबंदी शिविर आयोजित, 42 महिलाओं के हुए ऑपरेशन

सांचौर। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण कार्यक्रम के तहत गुरुवार को केरिया के आदर्श प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में शिविर आयोजित हुआ। जिसमें 42 महिलाओं के नसबन्दी ऑपरेशन किए। नसबंदी शिविर में एम. एल. विश्नोई ने कहा कि छोटा परिवार ही सुख का आधार है, इस स्लोगन की महत्वता से सभी लोग परिचित हैं, लेकिन जब जिम्मेदारी निभाने की बारी आती है तो पुरुष पीछे हट जाते हैं। परिवार नियोजन के प्रति पुरुषों की तुलना में महिलाएं कहीं ज्यादा जागरूक हैं। शिविर में 42 महिलाओं ने नसबंदी ऑपरेशन हुए। केरिया के आदर्श प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में यह शिविर विशेष रूप से ग्रामीण महिलाओं व पुरूषों के लिए रखा गया था। शिविर में केरिया क्षेत्र के दूरदराज गांव से महिलाओं ने अपने परिजन के साथ सुबह दस बजे से शिविर में पहुंचना शुरू कर दिया। सुबह 11 बजे जालोर से डॉक्टरों की टीम केरिया पहुंची। इसके बाद महिलाओं ने कतार में लगकर अपना रजिस्ट्रेशन और चेकअप कराया। शिविर में सर्जन डॉ. दीपक वर्मा, डॉ. आर के व्यास की टीम ने अपनी सेवाऐं दी। इस दौरान मैलनर्स प्रथम बुधाराम विश्नोई, मैलनर्स द्वितीय पूनमचंद कड़वासरा, प्रकाशचन्द्र गोयल, सुखदेव थोरी, एल.टी. प्रभु प्रजापत, कम्प्यूटर ऑपरेटर भागीरथ साऊ, समेत हॉस्पीटल स्टाफ ने अपनी सेवाएं दी।