भीनमाल में घुटने एवं कुल्हे के जोड़ प्रत्यारोपण का निशुल्क जांच एवं परामर्श शिविर सम्पन्न हुआ

भीनमाल। स्थानीय ब्रह्माकुमारी राजयोग केन्द्र, भीनमाल के प्रभु वरदान भवन में ग्लोबल हॉस्पिटल एण्ड़ रिसर्च सेन्टर माउण्ट आबू के संयुक्त तत्वावधान शिविर आयोजित किया गया। शिविर में यूके, आस्ट्रेलिया, जर्मनी तथा स्वीजरलैण्ड़ से जोड प्रत्यारोपण की ट्रेनिंग प्राप्त, मुंबई के अन्तर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त अनुभवी सर्जन डॉ. नारायण खण्ड़ेलवाल एवं उनकी टीम के द्वारा कुल 113 मरीजों की नि:शुल्क जांच कर उचित मार्गदर्शन दिया गया। साथ ही ऑपरेशन योग्य 18 मरीजों को ऑपरेशन के लिए ग्लोबल हॉस्पिटल एण्ड़ रिसर्च सेन्टर माउण्ट आबू में आनें की सलाह दी गई। जहां पर उनका ऑपरेशन किया जायेगा। इससे पूर्व डॉ. नारायण खण्ड़ेलवाल एवं उनकी टीम का स्थानीय केन्द्र के भाई-बहिनों द्वारा स्वागत कार्यक्रम एवं उद्घाटन समारोह का आयोजन किया गया। इस अवसर पर ग्लोबल हॉस्पिटल एण्ड़ रिसर्च सेन्टर माउण्ट आबू के सर्जरी डीपार्टमेण्ट से डॉ. अर्चना बहन ने सभी को घुटनो के ऑपरेशन के बारे में जानकारी दी साथ ही घुटनो की देखभाल कैसे की जाए इसकी जानकारी दी। ब्रह्माकुमारी गीता बहन ने सम्बोधित करते हुए संस्थान की गतिविधियों से शिविरार्थियों को अवगत करवाया। इस अवसर पर डॉ. कैलाश, सुनिता बहन, गुमानसिंह भाई, ओमप्रकाश खेतावत आदि गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

राष्ट्र का विकास नागरिकों की भूमिका अहम : नरेंद्रसिंह

पंचायत समिति भीनमाल में जन प्रतिनिधियों की बैठक में दी जानकारी
जालोर। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वावधान में गुरूवार को भीनमाल पंचायत समिति में जन प्रतिनिधियों की बैठक आयोजित की गई। बैठक के दौरान जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश नरेन्द्रसिंह ने कहा कि कि किसी भी राष्ट्र के निर्माण में नागरिकों की भूमिका अहम रहती है। यदि नागरिक राष्ट्र के विकास के लिए प्रयत्नशील नहीं है तो वह राष्ट्र प्रगति नहीं कर सकता। राष्ट्र को निरंरत उंचाईयों पर ले जाने की जिम्मेदारी नागरिकों की है। इसलिए हमें संविधान में वर्णित मूल कर्तव्यों की पालना करनी चाहिए। इस दौरान पंचायत समिति मुख्यालयों पर संचालित विधिक सेवा केन्द्र के बारे में जानकारी दी और कहा कि कोई भी व्यक्ति यहां आकर अपनी समस्या बता सकते है। इस दौरान उन्होंने विधिक सेवा क्लिनिक में उपलब्ध संसाधनों के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की ओर से संचालित योजनाओं, कार्यक्रमों के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी। इस अवसर पर प्रधान धोदाराम, विकास अधिकारी हरीराम के अलावा विभिन्न ग्राम पंचायतों के सरपंच व जनप्रतिनिधि उपसिथत रहे।