जिलें में अब तक लिए कुल 83234 सेम्पल, 79739 नेगेटिव, 1375 पॉजिटिव

जिले में 25 कोरोना एक्टिव केस
जालोर। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. गजेन्द्र सिंह देवल ने बताया कि रविवार को 5 व्यक्ति कोरोना को हरा कर स्वस्थ्य हो चुके है। वहीं वर्तमान जिले में 25 कोरोना एक्टिव केस है जिनका चिकित्सीय देखभाल में उपचार किया जा रहा है। सीएमएचओ डॉ. देवल ने बताया कि संभावित व्यक्तियों एवं कोरोना संक्रमित लोगो के सम्पर्क में आये व्यक्तियो में से जिले में अब तक कुल 83 हजार 234 सेम्पल लिये गये है इनमें से 79739 की रिपोर्ट नेगेटिव प्राप्त हुई है जिले में अब तक कुल 1375 व्यक्ति कोरोना संक्रमण पॉजिटिव पाये गये है। स्वास्थ्य विभाग की टीमों द्वारा कंटेनमेंट जोन में घर-घर जाकर सर्वे कर आमजन को कोरोना संक्रमण के प्रति जागरूक किया जा रहा है। रविवार को जिले में 521 चिकित्सा टीमों द्वारा 8 हजार 975 घरो का सर्वे कर 22 हजार 717 लोगो की स्क्रीनिंग की गई। वहीं जिले में कोरोना पॉजिटिव पाये गये क्षेत्रों में विभाग की टीमों द्वारा पुन: गहनता से स्क्रीनिंग कर संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आये के सैम्पल जांच हेतु भिजवाये जा रहे है।

मेडिप्लस हॉस्पिटल में महिला के पेट से 10 किलों की गांठ जटिल ऑपरेशन कर निकाली

c553518ed94d4365b3d853a9752493a7-150×92.jpg

अमृत सोलंकी 9799994203
सांचौर। शहर के नेशनल हाईवे 68, बाड़मेर रोड़ स्थित मेडिप्लस मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पिटल एवं रिसर्च सेंटर में एक महिला के पेट से 10 किलों की गांठ जटिल ऑपरेशन कर बाहर निकाली। मरीज जेठी देवी  गांव दूदू के पैशाब थैली में बहुत बड़ी गांठ थी। वह पूरी तरह खराब हो चुकी थी। इस कारण मरीज को एक साल से पेट में दर्द कर रही थी। इस दौरान गांठ का वजन 10 किलों था तथा मरीज के गांठ का डॉ. नरसीराम देवासी ने जटिल ऑपरेशन कर मरीज की जान बचाई तथा डॉ. नरसीराम देवासी ने जटिल ऑपरेशन करके मरीज को राहत दिलाई। इस दौरान चिकित्सको की टीम में डॉ. वरधाराम देवासी आर्थोपेडिक सर्जन, डॉ. रमेश चौधरी नवजात एवं बाल रोग विशेषज्ञ, डॉ. सोनल पटेल डायबिटीज एवं हृदय रोग विशेषज्ञ, डॉ. मासूम बेन स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ, डॉ. नरेश देवासी, डॉ. अशोक वैष्णव, डॉ. कुलदीप वैष्णव, ओटी स्टाफ बुधाराम माली, अंजू सुथार, हेमंत माली, भवानीसिंह राजपूत, हरजीराम देवासी दहीपुर, ललित देवासी कोमता, मालाराम सिणधरी मौजूद थे।

जालोर जिले में मिले 6 नए कोरोना पॉजिटिव, आंकड़ा 1330 पर पहुंचा


अमृत सोलंकी सांचौर
-अब तक लिए कुल 75269 सैंपल, 71902 नेगेटिव, 1330 पॉजिटिव
जालोर। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. गजेन्द्रसिंह देवल ने बताया कि बुधवार प्राप्त प्रक्रियाधीन सेम्पल में से 437 की रिपोर्ट प्राप्त हुई जिसमें 6 व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाए गए है। वहीं प्राप्त रिपोर्ट में 5 रिजेक्ट एवं 426 व्यक्त्यिों की रिपोर्ट नेगेटिव प्राप्त हुई है। सीएमएचओ डॉ. देवल ने बताया कि संभावित व्यक्तियों एवं कोरोना संक्रमित लोगो के सम्पर्क में आये व्यक्तियो में से जिले में अब तक कुल 75 हजार 269 सेम्पल लिये गये है इनमें से 71902 की रिपोर्ट नेगेटिव प्राप्त हुई है जिले में अब तक कुल 1330 व्यक्ति कोरोना संक्रमण पॉजिटिव पाये गये है। स्वास्थ्य विभाग की टीमों द्वारा कंटेनमेंट जोन में घर-घर जाकर सर्वे कर आमजन को कोरोना संक्रमण के प्रति जागरूक किया जा रहा है। मंगलवार को जिले में 536 चिकित्सा टीमों द्वारा 9 हजार 465 घरो का सर्वे कर 23 हजार 249 लोगो की स्क्रीनिंग की गई। वहीं जिले में कोरोना पॉजिटिव पाये गये क्षेत्रों में विभाग की टीमों द्वारा पुन: गहनता से स्क्रीनिंग कर संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आये के सैम्पल जांच हेतु भिजवाये जा रहे है।

टिड्डियां चट कर रही फसलें, वन मंत्री विश्नोई पहुंचे मौके पर, टिड्डी दल का गांवों में हमला जारी,

सांचौर। क्षेत्र के गांवों में टिड्डी का कहर खत्म नहीं हो रहा है। कई दिनों लगातार हो रहे टिड्डी दल के हमले से किसान परेशान है। लगातार टिड्डी दल के आने से किसानों की बच्ची खुशी उम्मीदों पर भी मंगलवार को पानी फेर दिया। अचानक टिड्डियां के हमले से क्षेत्र के किसानों में हडकंप मच गया। किसानों ने टायर जलाकर थाली, डिब्बे, ढोल बजाकर टिड्डियों को उड़ाने प्रयास करते नजर आए, लेकिन जहां भी टिड्डियों ने पड़ाव डाला, वहां पूरा खेत साफ कर दी। क्षेत्र के गांवों में टिड्डी दल ने मंगलवार को हमला कर दिया। किसानों में हड़कंप सा मच गया। टिड्डी दल ने लालजी की डूंगरी सहित आसपास के गांवों में जीरे की फसल चौपट कर दी है। हालात काबू पाने के लिए प्रशासनिक अधिकारियों ने टिड्डी प्रभावित गांवाों में पहुंच कर मोर्चा संभाला। वहीं स्प्रे का छिड़काव किया जा रहा है। गौरतलब है कि कुछ दिनों से टिड्डी दल ने क्षेत्र के किसानों की फसलों को चट कर दिया था। वहीं एक बार फिर टिड्डी दल के पड़ाव से बची हुई जीरे व गेंहू की फसल को लेकर किसानों को चिंता सता रही है। इधर, सूचना मिलते ही वन एवं पर्यावरण राज्यमंत्री सुखराम विश्नोई ने पूर्व निर्धारित दौरे को छोड़ कर टिड्डी प्रभावित क्षेत्र में पहुंचे। साथ ही प्रशासन व राहत दल के साथ टिड्डी नियत्रंण की योजना बनाई। जिसके बाद किसानों व प्रशासनिक अधिकारियों ने ट्रैक्टर लेकर टिड्डी दल पर छिड़काव किया गया। बड़ी संख्या में पहुचे टिड््डी दल ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है। किसान लगातार खेतों में पटाखें छोड़कर, पीपे, ढोल, थाली बजाकर अपनी उम्मीदों को बचाने की जुगत में लगे हुए है। लालजी की डूंगरी सहित आसपास के खेतों में जमकर तबाही मचाई और खेतो को खाली कर दिया, जिससे किसानों में मायूसी छा गई। दूसरी ओर किसानों ने टिड्डियों से बचाव के लिए खेतो में धुंआ करने के साथ तेज ध्वनी व फव्वारे चालू कर टिड्डियों से बचाव को लेकर कई जतन किए, लेकिन फिर भी टिड्डीयों से फसलों को नहीं बचाया जा सका। जिधर देखो खेतों में किसानों का पूरा परिवार जिसमें महिलाएं, बच्चे व बुजुर्ग थालियां बजाते नजर आए। किसानों की खड़ी फसलों के साथ साथ टिड्डियां पशुधन के लिये उगे चारागाहों को भी चट कर रही है। ऐसे में किसानों व पशुपालकों के लिये ये टिड्डियां परेशानी का सबब बनी हुई है।
वन मंत्री विश्नोई ने दौरा किया निरस्त
क्षेत्र के गांवों में टिड्डी दल के हमले की सूचना मिलने पर वन एवं पर्यावरण राज्यमंत्री सुखराम विश्नोई ने पूर्व निर्धारित दौरे को छोड़ कर टिड्डी प्रभावित क्षेत्र में पहुंचे। मंत्री विश्नोई दौरे को बीच में छोड़कर गांवों में पहुंचे जहां टिड्डी दल द्वारा हमला किया जा रहा है था वहां पर मौके पर पहुंच प्रशासनिक अधिकारियों से जानकारी ली। वहीं मंत्री विश्नोई ने टिड्डी विभाग व स्थानीय किसानों से ट्रैक्टरों को अर्लट कर दिया। जिससे उन्होंने कहा कि किसानों की हर संभव मदद की जाए।
यहां पहुंचा टिड्डी दल
खेतों, पेड़ों की टहनियों, कंटीली झाडियों पर बैठे टिड्डी दल को किसानों ने भगाने के लिए धुआं, ढोल, पटाखों से जतन करते दिखे। शोर-शराबे के बीच दोपहर बाद धीरे-धीरे उड़ान भरने लगी। क्षेत्र के गांवों में टिड्डी दल का हमला लगातार जारी है। वहीं मंगलवार को क्षेत्र के लालजी की डूंगरी सहित आसपास के गांवों में पड़ाव डाला। जिसमें लालजी डूूंगरी से होते हुए खामराई, कोलियों की बेरी, केआर बंधा कुंआ, हनुवंतपुरा, कुंभीया, टांपी सहित आसपास के गांवों में किसानों के खेतों में पहुंच कर फसलों को चट कर दिया। किसान लोहे के डिब्बें एवं थालियां बजाकर टिड्डी दल को उड़ाने में प्रयास कर रहे है। लेकिन टिड्डी दल का पड़ाव होने से किसानो की लाखों रूपए की फसलें चौपट होने का अंदेशा है।

रामलीला में सीता हरण का मंचन देख दर्शक मंत्रमुग्ध, रामलीला में छठें दिन उमड़ी शहरवासियों की भीड़


सांचौर। धर्म प्रचारक रामलीला मंडल काशी द्वारा गोगाजी की ओरडी परिसर में काशी की ओर से चल रही रामलीला में 6 दिन रामलीला में सूर्पनखा का नाक और कान लक्ष्मण क्रोधित होकर काट लेते हैं, सीता हरण का मंचन हुआ। इस दृश्य पर दर्शकों ने तालियों की गडग़ड़ाहट से श्रीराम का जयघोष किया। यह मंचन समाज को अच्छी दिशा देता है। सूर्पनखा अपनी शादी का प्रस्ताव लेकर भगवान राम के पास स्वयं गई थी, मानव से प्रमाण देता है कि आज भी सूर्पनखा जैसी गलतियां बहुत से समाज में हो रही है। रामचरितमानस मानव जीवन जीने के लिए सबसे बड़ा ग्रंथ है रामचरितमानस से सब कुछ सीख लेनी चाहिए। नाक तो उसी समय कट गई थी सूर्पनखा की जब अपनी शादी का प्रस्ताव लेकर स्वयं गई थी, दूसरा माता सीता रेखा के बाहर आकर बिठा दी जिससे उनका हरण हुआ। माता सीता ने महिलाओं को दर्शाती है की महिलाओं को मारादारुपी रेखा में रहनी चाहिए नहीं तो आज भी बहुत मायावी रावण घूम रहे हैं। जो समाज में हो रहा है ऐसे आयोजनों से महिलाओं को काफी बड़ी सीख मिलती है। और समाज में अच्छा सुधार आता है क्योंकि सुनना और देखना दोनों मिलता है। रामलीला जैसे मंचों से आज रामलीला के प्रति लोगों का भाव खत्म होते जा रहा है रामलीला जैसा मंचन एक समाज में अच्छा संदेश जीवन जीने की कला सिखाता है। सांचौर की धर्म भूमि पर बहुत वर्षों बाद रामलीला हो रही है जो अपने आप में अद्भुत है। छठें दिन के कार्यक्रम में डॉ. अशोक तलेसरा, राधेश्याम वैष्णव, डॉ. उत्तम पुरोहित, डॉ. उदाराम वैष्णव, रामचंद्र अग्रवाल, गिरीश वैष्णव, मदनलाल, सोनाराम पुरोहित, श्रवणसिंह राव सहित बड़ी संख्या में शहरवासी मौजूद थे।

आयुर्वेदिक काढ़ा पिलाया, मौसमी बीमारियों से बचाव के उपाय बताए

रानीवाड़ा। पतंजलि युवा भारत एवं ओमजी नेटवर्क द्वारा गुरूवार को रानीवाड़ा में मौसमी बीमारियों से बचाव के लिए विशेष औषधियों से निर्मित काढ़ा पिलाया गया। पतंजलि युवा भारत जिला प्रभारी गणपत दवे बताया कि रानीवाडा में पहली बार नि:शुल्क आयुर्वेदिक काढ़ा मौसमी बीमारियों की रोकथाम के लिए पिलाया गया। उन्होंने बताया कि औषधिय गुणों से युक्त तैयार किए गए इस काढ़े के सेवन से व्यक्ति की रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। मौसमी बीमारियों से भी बचाव के साथ ही स्वाईन फ्लू से बचाव में भी यह काढ़ा कारगर है। रानीवाडा तहसील प्रभारी अशोक चौधरी ने बताया डेंगू, मलेरिया एवं अन्य मौसमी बीमारियों से बचाव में काढ़े के महत्व से अवगत करवाया। इस कार्यक्रम में बैंक ऑफ इंडिया के कर्मचारियों व ओमजी नेटवर्क गु्रप का सहयोग रहा। इस विशेष प्रकार के काढ़े से बीमारियों से बचने के अलावा रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है, जिससे यह मौसमी बीमारियों से बचाव करता है। इस अवसर पर विनोद भाई, अरविंद भाई, सवाराम, मुकेश भाट, महेंद्र जीनगर, मोहन माजीराणा, बगदाराम लखारा, यशपाल चौहान सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।

अधिकारी सम्पर्क समाधान शिविर के मामलों का शीघ्र ही निपटारा करें : कलक्टर सोनी


जिला स्तरीय सम्पर्क समाधान शिविर में जिला कलक्टर ने सुनी परिवेदनाएँ
जालोर। जिला कलक्टर महेन्द्र सोनी ने गुरूवार को भारत निर्माण राजीव गांधी सेवा केन्द्र में जिला स्तरीय सम्पर्क समाधान शिविर में आमजन की परिवेदनाओं को व्यक्तिशः सुना तथा सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे सम्पर्क समाधान के तहत प्रस्तुत होने वाले मामलों में त्वरित गति से मामलों का निपटारा कर परिवादियों का राहत प्रदान करें। जिला स्तरीय भारत निर्माण राजीव गांधी सेवा केन्द्र में गुरूवार को जिला कलक्टर महेन्द्र सोनी के समक्ष आयोजित शिविर में 23 व्यक्तियों ने अपनी परिवेदनाओं को रखा जिनमें मौके पर उपस्थित अधिकारियों व पंचायत समितियों के सेवा केन्द्रों से संबंधित अधिकारियों से सीधे संवाद करते हुए। उन्हांने कहा कि सम्पर्क समाधान शिविर में प्रस्तुत होने वाले मामलों में किसी भी स्तर पर विलम्ब नहीं करें तथा जरूरतमंद व्यक्ति की समस्याओं का समाधान कर उन्हें राहत प्रदान करें। उन्होंने आहोर के तहसीलदार को निर्देश्ति किया कि सम्पर्क समाधान में सामान्यत आहोर तहसील क्षेत्र के सर्वाधिक अतिक्रमण हटाने से सम्बन्धित मामले आ रहे हैं इसलिए वे पूरे तहसील क्षेत्र में विशेष अभियान चलाकर राजकीय भूमियों पर हुए अतिक्रमणों को हटायें। शिविर में राजस्व, नगरीय निकाय, कॉपरेटिव बैंक, विद्युत, पुलिस, वन विभाग, रसद, शिक्षा, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग एवं ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज विभाग आदि से सम्बन्धित 23 व्यक्तियों ने अपनी परिवदेनाएँ प्रस्तुत की। वही जनसुनवाई में जिला स्तरीय सतर्कता समिति की भी बैठक सम्पन्न हुई जिसमें दर्ज 7 मामलों की समीक्षा के उपरान्त 2 प्रकरणों का निराकरण किया गया। शिविर में अतिरिक्त जिला कलक्टर छगनलाल गोयल, मुख्य कार्यकारी अधिकारी अशोक कुमार, डिस्कॉम के अधीक्षण अभियन्ता सी.एस. मीना, अधिशाषी अभियन्ता हेमन्त संकलेचा, जलदाय विभाग के अधिशाषी अभियन्ता आशीष द्विवेदी, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. गजेन्द्रसिंह देवल, मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी अशोक कुमार तथा जिला परिवहन अधिकारी प्रेमराज खन्ना सहित विभिन्न जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

रैन बसेरे में निरीक्षण के दौरान नहीं मिली प्राथमिक उपचार की दवाईयां


जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव ने किया रैन बसेरों का आकस्मिक निरीक्षण
जालोर। जिला मुख्यालय पर नगर पालिका की ओर से संचालित रैन बसेरों का आकस्मिक निरीक्षण किया तो कई अनियमितताएं मिली। कहीं पर प्राथमिक उपचार के लिए दवाइयां उपलब्ध नहीं थी तो कहीं पर रजिस्टर का संधारण नहीं किया जा रहा है। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश नरेन्द्रसिंह ने सोमवार को जिला मुख्याल पर नगर परिषद के पास स्थित रैन बसेरे एवं नये बस स्टैंड के पास संचालित रैन बसेरों का आकस्मिक निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इस दौरान नये बस स्टैंड के पास स्थित रैन बसेरे में प्राथमिक उपचार के लिए रखी पेटिका में किसी प्रकार की दवाइयां नहीं मिली। उपस्थित कर्मचारी को जब इसके बारे में पूछा तो गया तो उसने बताया कि हमारे पास किसी प्रकार की दवाइयां टेबलेट उपलब्ध नहीं है, यहां पर साफ-सफाई व्यवस्था सही पाई गई, आने वाले लोगों के लिए बिस्तर, पानी, आदि की सुविधाएं पर्याप्त व सही पाई गई। इसी प्रकार नगर परिषद के पास स्थित रैन बसेरे का निरीक्षण किया गया तो वहां पर रजिस्टरों का सही रूप से संधारित किया जाना नहीं पाया गया। उपस्थित कर्मचारी को जब रजिस्टर के बारे में पूछा गया तो वह सही जवाब नहीं दे पाया। इस दौरान उपस्थित कर्मचारियों को निर्देश दिये गये कि वे रैन बसेरों में मिलने वाली सुविधाओं में किसी प्रकार की कमी नहीं रखें। उन्होंने रजिस्टरों का सही रूप से संधारित करने के भी निर्देश दिये।

मेघावा में किसानों का धरना प्रदर्शन सांतवे दिन भी जारी


सांचौर/चितलवाना। किसान संघर्ष समिति मेघवा के नेतृत्व में नर्मदा नहर से सिंचाई के लिए अनकमांड जमीन को कमांड क्षेत्र से जोडऩे की मांग को लेकर मेघावा में किसानों को धरना प्रदर्शन सांतवे दिन भी जारी रहा। वहीं किसानों ने मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा। किसानों ने बताया कि नर्मदा मुख्य नहर के लिए किसानों की ओर से बेशकीमती जमीन देने के बावजूद भी विभाग की ओर से नहर के पास के गांवों के किसानों को पानी नहीं दिया जा रहा है। जिससे किसानों के सिंचाई से वंचित रहना पड़ रहा है। ऐसे में किसानों की ओर से मेघावा, वीरावा, मणोर, अगड़ावा व कुण्डकी को कमांड क्षेत्र में जोडऩे की मांग को लेकर मेघावा में धरना दिया जा रहा है। वहीं किसानों ने जमीन को नहरी कमांड क्षेत्र में जोडऩे की मांग नहीं मानने जाने तक धरना प्रदर्शन जारी रखने की बात कहीं। ज्ञापन में बताया कि नर्मदा नहर के दोनां ओर विभागीय अधिकारियों की लापरवाही से इन गांवों को क्षेत्र को पानी नही दिया जा रहा है। इस मौके पर जगदीश सियाक, ईशराराम विश्नोई, कानाराम, मुकेश सुथार, भंजनलाल, जयराम, जगदीश कुमार, राजुराम, मुकनाराम, देवराम पूनिया, नेनाराम सारण, कालुराम, मोहनलाल, ठाकराराम, बुधाराम, सुरजनराम, जालारााम, तेजाराम, मालाराम, मोहनलाल, भागीरथराम, दुरगाराम, भाखराराम, गोपाल कुमार, जोराराम, लाडूराम, भगवानाराम, किशनाराम, गोपाल कुमार, बाबुलाल, गोंविंदराम, भेराराम, रूगनाथाराम, मांगीलाल, रूपाराम, रामुराम, बाबुलाल, सुरताराम, सोनाराम, पोकराराम, मोहनलाल, पांचाराम, गंगाराम सहित बड़ी संख्या में किसान मौजूद थे।

अमृतलाल चौधरी बने दूसरी बार सांकड मंडल अध्यक्ष


सांचौर। भारतीय जनता पार्टी राजस्थान प्रदेश द्वारा नवनिर्वाचित जिला प्रतिनिधि व मंडल अध्यक्षों की घोषणा की गई। वहीं जालोर भाजपा जिला चुनाव अधिकारी धर्मनारायण चौधरी व प्रदेश सह चुनाव अधिकारी कैलाश मेघवाल ने जालोर जिलें के मंडल अध्यक्षों व जिला प्रतिनिधियों की घोषणा की। जिसमें अमृतलाल चौधरी को दूसरी बार सांकड भाजपा मंडल अध्यक्ष बनाया गया।
चौधरी को सांकड भाजपा मंडल अध्यक्ष बनाने पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने उन्हें बधाई देकर खुशी जाहिर की।

सांचौर थानाधिकारी चारण ने रक्तदान कर बचाई पीडि़त की जान


-राजकीय सेवा के साथ साथ मानवसेवा में भी दे रहें योगदान
सांचौर। क्षेत्र में मानवसेवा को समर्पित लाल बून्द जीवनदाता सेवा समिति जो इमरजेंसी में रक्त की जरूरत के समय हर वक्त पीडि़तों के लिए मसीहा बन रही है। प्रदेशाध्यक्ष संजय बिश्नोई ने बताया कि रविवार को क्षेत्र के निजी अस्पताल में भर्ती एक्सीडेंट पीडि़त को बी पॉजिटिव खून की आवश्यकता थी। इस पर परिजनों द्वारा समिति से संपर्क करने पर पुलिस थानाधिकारी कैलाशदान चारण ने तुरंत अस्पताल पहुंचकर रक्तदान किया। समिति सदस्य कॉन्स्टेबल ड्राइवर दिनेश सियाक व श्याम चौधरी ने बताया कि थानाधिकारी कैलाशदान चारण द्वारा अपने राजकीय कार्य को छोड़कर बिना देर किए रक्तदान किया है जो अपने आप में एक अनुकरणीय कार्य है। कैलाशदान चारण मूलत: बज्जू बीकानेर निवासी है जो मानवीय इस कल्याणार्थ कार्य में हर समय रुचि रखकर जरूरतमंदों के लिए मददगार साबित हो रहे है। प्रदेश सचिव लाडूराम पंवार व कोषाध्यक्ष सुरेश कांवा ने बताया कि हमें ऐसे रक्तवीरों से प्रेरणा लेकर रक्तदान के लिए हर समय तैयार रहना चाहिए जिसके कारण जरूरतमंद को समय पर रक्त मुहैया हो सके।

सांचौर में मेघवाल समाज की 200 प्रतिभाओं को किया सम्मानित, शिक्षा के बिना समाज का विकास संभव नही : गणेशनाथ


सांचौर। शहर के नेशनल हाईवे 68 स्थित पीडब्ल्यूडी डाक बंगले में रविवार को मेघवाल युवा परिषद एवं सामाजिक विकास संस्था द्वारा 11 वां वार्षिक प्रतिभा सम्मान समारोह का आयोजन शिवनाथुपरा मठ के गणेशनाथ महाराज के पावन सानिध्य में एवं प्रधान टाबाराम मेघवाल व रानीवाड़ा प्रधान रमिला मेघवाल के मुख्य आतिथ्य में तथा नगरपालिका अध्यक्ष नीता मेघवाल के अध्यक्षता में एवं मुख्य वक्ता भंवर मेघवंशी स्वतंत्र पत्रकार की मौजूदगी में आयोजित हुआ। वहीं इस दौरान पीआर बोस बीसीएमओ, दिलीप परमार प्रोफेसर, अमृत दहिया सीआई सीमा सुरक्षा बल, नरेश पातलिया आरपी, किशनलाल बामणिया प्रधानाचार्य, आम्बाराम पांचल प्रधानाचार्य पमाणा, पोपटलाल धोरावत प्रधानाचार्य आमली, नगाराम तहसीलदार, रायचन्द कालमा भादरूणा, गंगाराम पारेगी जलदाय विभाग एईएन, जवाराम मेघवाल अध्यक्ष मेघवाल समाज, केशाराम मेहरा धमाणा, भेराराम अरणाय, सेंधाराम बावरला कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष, भामाशाह दलाराम चौहान पावटी, रमेश बोस ठेकेदार अगार, हरिभाई सोलंकी सामाजिक कार्यकर्ता गुजरात, श्रवण परमार शोधकर्ता जेएनयू के विशिष्ट अतिथि में आयोजित हुआ। कार्यक्रम का शुभारंभ बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर की तस्वीर पर माल्यार्पण कर किया गया। इस दौरान गणेशनाथ महाराज ने कहा कि शिक्षा के बिना समाज का विकास सम्भव नही है। उन्होंने सामाजिक बुराईयों को मिटाने का आह्वान किया। प्रधान टाबाराम मेघवाल ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में प्रतिभाओं की कमी नही है। उन्होंने समाज के लोगों को एकजुट होकर समाज हित में कार्य करने की नसीहत देते हुए बालिका शिक्षा पर बल दिया। रानीवाड़ा प्रधान रमिला मेघवाल ने लक्ष्य निर्धारत करते हुए विद्यार्थियों को आगे बढऩे की अपील की। उन्होंने कहा कि सफलता के लिए कोई शॉर्टकट नही होता है। समारोह में रानीवाड़ा प्रधान ने बच्चों को शिक्षित कर उन्हें प्रतिभा निखारने का अवसर देने की बात कही। इस मौके समारोह के मुख्य वक्ता भंवर मेघवंशी ने कहा कि समाज में बदलाव की जरूरत है। इसके लिए समाज को एकजुट होना होगा, साथ ही इसके लिए युवाओं के साथ बुजुर्गों को भी आगे आना होगा। उन्होंने कहा कि समाज में अंबेडकर का सपना तभी साकार होगा जब समाज का हर युवा उच्च शिक्षा प्राप्त करेगा। उन्होंने समाज में अब भी शिक्षा के कम प्रतिशत को लेकर चिंता जताई। उन्होंने समाज के युवाओं से शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढऩे का आह्वान किया। नगरपालिका अध्यक्ष नीता मेघवाल ने कहा कि पढ़ाई के साथ-साथ विद्यार्थियों को खेलकूद में भी आगे रहना चाहिए एवं समाज में नशावृत्ति पर अंकुश लगाने व कुरीतियों को मिटाने का आह्वान करते हुए बालिका शिक्षा पर जोर देने की बात कही। वहीं कार्यक्रम का संचालन प्रकाशचन्द्र व्याख्याता मालवाड़ा ने किया।
200 प्रतिभाओं को किया सम्मानित
मेघवाल युवा परिषद एवं सामाजिक विकास संस्था द्वारा 11 वां वार्षिक प्रतिभा सम्मान समारोह के दौरान समाज के 200 प्रतिभाओं को सम्मानित किया गया। इस दौरान अतिथियों के हाथों से प्रतिभाओं को स्मृति चिन्ह् व प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया।
यह थे मौजूद
इस अवसर पर रमेश कुमार खानवत अध्यक्ष मेघवाल युवा परिषद, मूलाराम वाघेला, रमेश खानवत, जितेन्द्र परमार बिछावाड़ी, डूंगरराम पाहड़पुरा, कमलेश मूलनिवासी, नरेन्द्र भरनावा, धनराज परिहार, एडवोकेट राजेंद्र हिंगड़ा, हीरालाल कारोला, भारमल परमार, शांतिलाल नागवंशी, मेवाराम बाजक, दीपक पंचाल, रमेश कुमार, चेतन बावरला, वसराम गोलासन, सुरजन पारीक, उत्तम सोलंकी, अशोक बी. कारोला, मांगीलाल गोयल, वेरसीराम राणावत सहित बड़ी संख्या में समाज बन्धु मौजूद थे।

गोलासन नंदीशाला में होगा गोनंदी प्रवेश समारोह का आयोजन आज


सांचौर। श्री महावीर हनुमान नंदीशाला गोलासन में श्री माहेश्वरी प्रगति मण्डल मुम्बई द्वारा निर्मित दो गोगृह का उद्घाटन एवं नंदी प्रवेश कार्यक्रम का आयोजन 8 दिसम्बर को सांय 4 बजे परम श्रद्धेय गोऋषि स्वामी दत्तशरणानन्द महाराज एवं परम पूज्य मलूकपीठाधीश्वर राजेन्द्रदास देवाचार्य महाराज के पावन सान्निध्य एवं गोगृह निर्माण के भामाशाहों तथा सैकड़ों गोभक्तों की उपस्थिति में होगा।
गोधाम में गोमहिमा सत्संग कथा का आज होगा शुभारम्भ
श्री गोधाम महातीर्थ पथमेड़ा के 25 वें स्थापना वर्ष पर आयोजित श्री गोधाम महातीर्थ पथमेड़ा रजत जयन्ती समापन समारोह के अन्तर्गत संस्थापक परम श्रद्धेय गोऋषि स्वामी दत्तशरणानन्द महाराज के पावन सान्निध्य में आनन्दवन परिसर की पावन भूमि पर 8 से 12 दिसम्बर पर्यन्त प्रतिदिन सांय 8 बजे से श्री मलूकपीठाधीष्वर स्वामी श्री राजेन्द्रदास देवाचार्यजी महाराज के श्रीमुख से गोमहिमा सत्संग का दिव्य लाभ प्राप्त होगा।
गाय चरावत माखनचोर रासलीला का होगा आयोजन
श्री गोधाम महातीर्थ पथमेड़ा के आनन्दवन परिसर में रजत जयन्ती के समापन समारोह पर नौ वर्षो बाद पून:10 से 12 दिसम्बर पर्यन्त अन्तर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त राष्ट्रपति द्वारा सम्मानित सुप्रसिद्ध रासाचार्य स्वामी श्रीराम शर्मा, श्रीधाम वृन्दावन द्वारा ठाकुर की गोचारण लीला व माखनचोरी की सुमधुर संगीतमय भव्य प्रस्तुति का भी दिव्य कार्यक्रम सांय 7 बजे से प्रारम्भ होगा।
पथमेड़ा में पाटोत्सव समारोह का होगा आयोजन
रजत जयन्ती समापन समारोह के अन्तर्गत प्रतिदिन भगवान के मन्दिरों में पाटोत्सव समारोह प्रतिदिन 8 बजे से शुभारम्भ होंगे। जिसमें 8 दिसम्बर को गीता जयन्ती के पावन पर्व पर सामूहिक गीतापाठ, गीतायज्ञ एवं संगोष्ठि के साथ ही गोमाता का पूजन एवं 1100 लड्डू व 1100 केलों से गोमाता का पूजा अर्चना, 9 दिसम्बर को श्री गिरीराजधरण भगवान का पूजनोपरान्त 1100 सेव तथा 1100 तुलसीदल से पूजा अर्चना, 10 दिसम्बर को श्री गोधनेश्वर महादेव के पूजनोपरान्त 1100 अमरूद व 1100 बिल्वपत्र से पूजा अर्चना, 11 दिसम्बर को गोरक्षक श्री हनुमान के पूजनोपरान्त 1100 वड़बोर (बेर) व 1100 तुलसीदल से अर्चन तथा 12 दिसम्बर को सद्गुरु दत्तात्रेय भगवान का 1100 सेव व 1100 तुलसीदल से पूजा अर्चना होगी।

समाज निर्माण के लिए शिक्षक का दायित्व महत्वूपर्ण, राजस्थान शिक्षक संघ प्रगतिशील का 59 वां प्रदेश शैक्षिक सम्मेलन सम्पन्न


सांचौर। राजस्थान शिक्षक संघ प्रगतिशील का दो दिवसीय 59 वां प्रदेश शैक्षिक सम्मेलन का समापन समारोह का आयोजन स्थानीय राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय परिसर में प्राचार्य हिंमाशु पंडिया के मुख्य आतिथ्य में एवं राजस्थान शिक्षक संघ प्रगतिशील के प्रदेशाध्यक्ष वन्नाराम चौधरी की अध्यक्षता में तथा नगर पालिका नेता प्रतिपक्ष बीरबल विश्नोई, पुलिस उपाधीक्षक अनिल सारण के विशिष्ठ आतिथ्य में किया गया। इस दौरान सम्मेलन में वक्ताओं ने शिक्षकों की विभिन्न समस्याओं को उठाया। इस दौरान समापन समारोह को सम्बोधित करते हुए प्राचार्य हिंमाशु पंडिया ने कहा कि आज हमें सार्वजनिक शिक्षा को बचाना होगा, हमें देश में साम्प्रदायिक शक्तियों से लडऩा होगा, शिक्षक ने हमेशा समाज का पथ प्रदर्शक किया है, हमें संगठित होकर हमारी ज्वंलत समस्याओं को लेकर संघर्ष करना होगा। पुलिस उपाधीक्षक अनिल सारण ने कहा कि हमें विद्यालयों में अभाव में प्रभाव दिखाकर ग्रामीण क्षेत्रों में गरीब व किसानों तथा मजदूरों के बच्चों को आगे बढ़ाने का संकल्प लेना होगा। संगठन के प्रदेशाध्यक्ष वन्नाराम चौधरी ने 59 वें प्रदेश सम्मेलन के भव्य आयोजन के लिए जिला शाखा जालोर का आभार जताते हुए कहा कि हमारा संगठन आगामी दिनों में एनपीएस को लेकर जोरदार संघर्ष का आगाज करेंगा। हमें इस आंदोलन को मजबूति प्रदान करना होगा। संगठन के मुख्य महामंत्री पूनमचंद विश्नोई ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा शिक्षकों को केन्द्र के अनुरूप मंहगाई भत्ता नहीं देने पर आक्रोश करते हुए सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि समय रहते डीए की घोषणा नहीं की तो आगामी पंचायत चुनाव में कांग्रेस सरकार को इसका परिणाम भूगतना पड़ेगा। जिलाध्यक्ष किशनलाल सारण ने कहा कि सम्मेलन में राजस्थान भर से हजारों शिक्षकों की भागीदारी रही एवं दो दिवसीय सम्मेलन में जिन साथियों ने प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष रूप से सहयोग किया संगठन उनका आभार व्यक्त करता है। उन्होंने कहा कि हमें राज्य सरकार की शिक्षा विरोधी नीति का विरोध करना होगा। शिक्षा विद् जोगाराम सुथार ने कर्मचारियों के आंदोलन के फलस्वरूप ही आज हमें ठीक-ठाक वेतन प्राप्त हो रहा है। संघर्ष की धार को और तीखी करनी होगी। संगठन के प्रदेश महामंत्री महादेवाराम देवासी ने सभी शिक्षकों को संगठित होकर संघर्ष करने का आह्वान किया। समापन समारोह को नगर पालिका नेता प्रतिपक्ष बीरबल विश्नोई, लक्ष्मण राजपुरोहित ने सम्बोधित करते हुए कहा कि शिक्षक समाज में उच्च आदर्श स्थापित करने वाला व्यक्तित्व होता है। किसी भी देश या समाज के निर्माण में शिक्षा की अहम् भूमिका होती है। कहा जाए तो शिक्षक ही समाज का आईना होता है। वहीं कार्यक्रम का संचालन संगठन जिला मंत्री जयकरण खिलेरी द्वारा किया गया।
यह थे मौजूद
राजस्थान शिक्षक संघ प्रगतिशील के दो दिवसीय समापन समारोह में मकाराम चौधरी, सूरजनराम साऊ, चुतराराम सियाग, जयकरण खिलेरी, छोगाराम सारण, प्रभाराम चौधरी, बाबुलाल कड़वासरा, रामनिवास साऊ, बाबुलाल सिंयाग, राजूराम विश्नोई आहोर, प्रकाश नारायण माली, बालकृष्ण शर्मा, लाडूराम खिंचड, रूडाराम देवासी, हरिराम चौधरी, जवाहराराम मेघवाल, राणाराम सारण, राजूराम विश्नोई, देवराज चौधरी, जगदीश मांजू, बाबुलाल मांजू, पन्नाराम गोदारा, नरिंगाराम चौधरी, राजूराम कुराडा, राजेन्द्र साऊ, सुनिल सारण, बुद्धाराम गोदारा, श्रवण गोदारा, ओमप्रकाश, भगराज सारण, भीखुशाह, भलाराम, हरिराम सांकड, पी.सी डारा, संजय गोदारा, जगदीशचन्द्र, हरचंदराम मेघवाल, शंकराराम मेघवाल, हेमराज राणा, जयकिशन मेघवाल, जयकिशन राणा, लाखाराम प्रजापत, करणसिंह, किशनलाल सहित बड़ी संख्या में शिक्षक मौजूद थे।
प्रदेश कार्यकारिणी की हुई बैठक आयोजित
प्रदेश महामंत्री पूनमचंद विश्नोई ने बताया कि समापन समारोह के पूर्व प्रात: 9 बजे प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक आयोजित हुई। जिसमें सम्मेलन में प्राप्त प्रस्तावोंं को अंतिम रूप दिया गया। वहीं शिक्षकों की विभिन्न समस्याओं के निराकरण हेतु आंदोलन व संघर्ष करने का निर्णय लिया गया।
खुला अधिवेशन में शिक्षकों की समस्याओं पर चर्चा
प्रदेश सम्मेलन के द्वितीय चरण में खुला अधिवेशन प्रदेशाध्यक्ष वन्नाराम चौधरी की अध्यक्षता में आयोजित हुआ जिसमें विभिन्न जिलों के जिलाध्यक्षों द्वारा अपने-अपने जिलों की संगठनात्मक गतिविधियों, सदस्यता अभियान, शिक्षकों की ज्वंलत समस्याओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

अधूरे विकास कार्यो को त्वरित गति से पूर्ण करे : जिला प्रमुख


बिजली, पानी सडक व चिकित्सा सहित विभिन्न विषयों पर हुई चर्चा
जिला परिषद की सामान्य बैठक सम्पन्न
जालोर। जिला प्रमुख डाॅ. वन्नेसिंह गोहिल की अध्यक्षता एवं जिला कलेक्टर महेन्द्र सोनी, जालोर विधायक जोगश्वर गर्ग, रानीवाडा विधायक नारायण सिंह देवल, आहोर विधायक छगन सिंह राजपुरोहित की उपस्थिति मे शनिवार को जिला परिषद के सभाकक्ष मे जिला परिषद की समान्य बैठक सम्पन्न हुई। बैठक मे बिजली ,पानी ,सडक व चिकित्सा सहित विभिन्न विषयों पर गहन चर्चा की गई।
बैठक मे जिला प्रमुख वन्ने सिंह गोयल ने कहा कि जन प्रतिनिधि अपने क्षेत्र की आम जन से जुडी समस्याओं के निराकरण की अपेक्षा के साथ जिला स्तरीय अधिकारियों के पास आते है ऐसे मे अधिकारी का नैतिक दायित्व है कि वे इन समस्याओं के निराकरण मे जन प्रतिनिधि का पूर्ण सकारात्मक सहयोग करे। उन्होने सभी अधिकारियों से कहा कि वे अधूरे विकास कार्यो को त्वरित गति से पूर्ण करे।
बैठक मे जिला कलेक्टर महेन्द्र सोनी ने कहा कि जिले मे सामाजिक सुरक्षा योजना तथा पालनहार योजना से जुडे किसी भी व्यक्ति के भुगतान मे किसी भी स्तर पर देरी नही हो तथा सम्बंधित को भुगतान समय पर किया जाये इसके लिये विशेष कार्य योजना बनाकर कार्य करे। उन्होने कहा कि जिले मे अपूर्ण विकास कार्यो को गुणवत्ता का ध्यान रखते हुए त्वरित गति से करते हुए वित्तीय वर्ष की समाप्ति से पूर्व पूर्ण किया जाये। जिले मे संचालित विभिन्न विकास कार्यो मे समयबद्धता का विशेष ध्यान रखा जाये। उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री किसान निधि योजना से किसानों को लाभान्वित करने के लिये उनके आधार अपडेशन कार्य को गति प्रदान की जाये तथा सभी विभाग आपस मे सामंजस्य के साथ जन हित के कार्यो को प्राथमिकता से पूर्ण करे। बैठक में जालोर विधायक जोगेश्वर गर्ग, आहोर विधायक छगनसिंह राजपुरोहित एवं रानीवाडा विधायक नारायणसिंह देवल ने अपने-अपने क्षेत्र की विद्युत, पानी की आपूर्ति, चिकित्सा एवं क्षतिग्रस्त सडकों सहित विभिन्न विभागों से सम्बंधित जन समस्याओं के समाधान के लिए ध्यान आकर्षित किया जिस पर जिला कलक्टर महेन्द्र सोनी ने सम्बंधित अधिकारियों को जल्द से जल्द इन समस्याओं के समाधान के लिये निर्देशित किया।
बैठक में जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अशोक कुमार ने बैठक में रखे जाने वाले विषयों तथा विभागीय प्रगति के सम्बन्ध में सदन को जानकारी दी वही उप जिला प्रमुख श्रीमती गिरधर कंवर, आहोर प्रधान राजेश्वरी कंवर, भीनमाल प्रधान धुखाराम पुरोहित, सायला प्रधान जबरसिंह, चितलवाना प्रधान हनुमान प्रसाद भादू, सांचैर प्रधान टाबाराम, जिला परिषद सदस्य श्रीमती पवनी देवी व माधोसिंह आदि ने अपने-अपने क्षेत्र की जन समस्याओं को रखा। इस अवसर पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सत्येन्द्र पाल सिंह, अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुरेश कविया, पंचायत समितियों के विकास अधिकारी, जिले के विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारीयों सहित जिला परिषद के सदस्य उपस्थित थे। बैठक में पूूर्व अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी रामचंद गरवा के स्थानांतरण पर जिला प्रमुख वन्ने सिंह गोयल द्वारा तिलक लगाकर एवं साफा पहनाकर तथा जिला कलेक्टर महेन्द्र सोनी द्वारा माल्यार्पण कर एवं श्रीफल प्रदान कर विदाई दी गई।

सांसद पटेल ने लोकसभा में उठाया आदर्श क्रेडिट कॉ-ऑपरेटिव सोसायटी का मुद्दा, आदर्श सोसायटी में जमा निवेशको की पूंजी वापस दिलवाई जायें : सांसद पटेल


सांचौर। जालोर-सिरोही लोकसभा सांसद देवजी पटेल ने 17 वीं लोकसभा के द्वितिय सत्र के दौरान आदर्श क्रेडिट को-ऑपरेटीव सोसायटी में गरीब एवं किसान निवेशको की जमा पुंजी संस्था से संबंधित व्यक्तियों की सम्पती जब्त कर वापस दिलवाने का मुद्दा उठाया। जालोर सिरोही सांसद देवजी पटेल ने बताया कि मेरे संसदीय क्षेत्र सहित देशभर के गरीब किसान को लाभकारी योजनाओ का झासा देकर आदर्श क्रेडिट को-ऑपरेटीव सोसायटी नाम की संस्था क्रेडिट सोसायटी में धन जमा करवा रही थी। परिपक्व होने पर राशि चुकाने के बजाय हाथ खडे कर दिये है। ऐसे मे आदर्श क्रेडिट को-ऑपरेटीव सोसायटी मे लोगो की करोडो की धनराशि डूब गई है। यह राशि कभी मिलेेगी भी या नही इसमें संशय बना हुआ है एक मोटे आंकलन के मुताबित लोगो द्वारा लगभग 14 हजार करोड रूपये का निवेश किया गया हैं। ऐसे में हाथ खडे किए जाने पर जमा धन भी सोसायटी मे ही फंस गया हैं। उन्होंने बताया कि क्षेत्र के गरीब, दैनिक मंजदूर, ठेले वाले, रिक्षा वाले, फेरी वाले, नरेगा मजदूर, छोटे किसान, छोटे व्यापारियों, रिटायर्ड कर्मचारी ने अपनी मेहनत की गाढी कमाई यह सोच कर आदर्श को-ऑपरेटीव सोसायटी में निवेश किया था कि कुछ साल बाद यह पैसा दुगुना होगा जिससे में अपना घर बनाऊंगा, अपनी बेटी की शादी करूंगा, बच्चो की पढाई एवं इसी धन से बुढापे में आराम से जीवन यापन करूगा। परन्तु आदर्ष को-ऑपरेटीव सोसायटी ने उन सब अरमानो पर पानी फेरते हुए राजस्थान में करीब 8 हजार करोड रूपये की निवेशित रकम अपनी शैल कंपनी में निवेश कर उक्त गरीबों को ठेगा दिखा दिया है। आज सॉसायटी की सभी शाखाए बंद कर दी गई है निवेशक जब अपना निवेशित धन आपस लेने जाते है तब शाखाओं पर ताला लगा नजर आता हैं।
सांसद पटेल ने बताया कि इस घोटाले में लिप्त उनके मालिको को गिरफ्तार किया गया है परन्तु उन्होंने आदर्श को-ऑपरेटीव सोसायटी में जमा धन मे से ज्यादातर धन अपने रिश्तेदारो को दिया है इसलिए उनको भी गिरफ्तार किया जाये तथा जहा भी उन्होने पुंजी निवेश की है उन संपतियो को जब्त कर गरीबो का पैसा वसुला जाये। सांसद पटेल ने बताया कि यह पैसा गरीब मजदुर एवं किसान का पैसा है जिन्होने अपना पेट काट यह पैसा जमा करवाया आज स्थति यह है कि उनके खाना-पानी के भी लाले पड़ रहे है। इसलिए जिस-जिस ने निवेशको का धन लिया उन सभी को गिरफ्तार करना चाहिए क्योकि प्रदेश की राज्य सरकार कोई कठोर कार्यवाही नही कर रही है, वर्तमान राज्य सरकार लोकसभा चुनाव में आरोपियों को बचाने का प्रयास कर रही थी। सांसद पटेल ने केन्द्र सरकार से पुरजोर मांग करते हुए कहा की केन्द्र सरकार इस पर कठोर से कठोर कार्यवाही कर निवेशको की जमा पुंजी वापस दिलवाये।

टेल तक पानी पहुंचाने की मांग पर अड़े किसान, वार्ता विफल, धींगपुरा के किसानों की भूख हड़ताल चौथें दिन जारी


-उपखंड अधिकारी यादव ने की भूख हड़ताल पर बैठेें किसानों से वार्ता
सांचौर। रबी की सीजन में सूकड़ी वितरिका, आकोडा माईनर, धींगपुरा माईनर व मुख्य बालेरा वितरिका में टेल तक नर्मदा नहर का पानी पहुंचाने की मांग को लेकर नर्मदा नहर परियोजना विभाग के समक्ष भूख हड़ताल चौथे दिन व धरना जारी रहा। इस दौरान गुरूवार सुबह डॉक्टरों की टीम ने धरना स्थल पर पहुंच भूख हड़ताल पर बैठे किसानों की जांच की। जिसके बाद किसानों के स्वास्थ्य में गिरवाट आई। भाजपा नेता दानाराम चौधरी के नेतृत्व में धींगपुरा के किसानों ने टेल तक पानी पहुंचाने की मांग को लेकर भूख हड़ताल जारी रही वहीं गुरूवार को सुबह उपखंड अधिकारी भूपेन्द्र कुमार यादव ने धरना स्थल पर पहुंच कर धरनार्थियों से वार्ता की। इस दौरान किसान टेल तक पानी पहुंचाने की मांग पर अड़े रहे। इस दौरान उपखंड अधिकारी यादव ने नर्मदा नहर परियोजना के अधिकारियों से पानी टेल तक पहुंचाने के निर्देश दिए। इस दौरान किसानों ने कहा कि टेल तक पानी पहुंचाने के बाद ही भूख हड़ताल समाप्त करने की बात कहीं। इस दौरान किसानों ने मांगों को लेकर उपखंड अधिकारी को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया कि ग्राम धींगपुरा जो नेहड़ क्षेत्र में स्थित है, भू. तल का पानी खारा है, सिंचाई का एकमात्र जरिया नर्मदा नहर है। ग्रामीणों द्वारा डिग्गियों की समस्त डिमांड राशि भी जमा करवाए दो साल हो गए हैं, किन्तु रबी की सीजन में एक बूंद भी पानी आज दिन तक नहीं मिला है। इसको लेकर विभाग कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है। ज्ञापन में बताया कि बालेरा माइनर की आज दिन सफाई तक नहीं की गई है। नर्मदा नहर के अधिकारियों द्वारा वारा सिस्टम करने पर 72 घंटा का वारा व उससे अधिक किया जाकर हमें हमारे हिस्से का पानी पूरा दिलवाया जावे तथा टेल तक पानी पहुंचाया जावे। हमें नियमित रूप से पानी दिया जावे, तथा जब तक टेल तक पानी नहीं पहुंचे तब तक पिछें के गांवों के लोगोंं को अवैध मोटरे व इंजन को तथा पाइपों से पानी का स्थगन करने वालों को रोका जावे, बालेरा वितरिका का पानी टेल तक पहुंचाने की मांग की। पूर्व में विभाग द्वारा किया गया वारा सिस्टम का पानी नही पहुंचा है उस वारा का पानी भी दिया जावे तथा आकोडा माईनर, धींगपुरा माईनर व मुख्य बालेरा वितरिका में डिग्गी नम्बर 29 व 35 व टेल तक रेगूलर पानी तथा नहरों की संपूर्ण रूप से सफाई करवाई जाए, पूर्व में विभाग द्वारा आश्वासन दिया गया था कि बुधवार तक टेल तक पानी पहुंचाया जाएगा लेकिन अभी तक पानी नही पहुंचा जो वारा का पानी जल्द से जल्द पहुंचाया जावे। किसानों ने बताया कि जब तक सूकड़ी वितरिका, आकोडा माईनर, धींगपुरा माईनर व मुख्य बालेरा वितरिका में टेल तक पानी पहुंचाने की मांग को लेकर भूख हड़ताल व धरने पर रहेंगे। इस दौरान भाजपा वरिष्ठ नेता मोतीराम चौधरी, दुर्गाराम चौधरी, मिलापचंद कानूंगों, राजेन्द्रसिंह परावा, भगाराम, पृथ्वीराज, मालाराम, भंजनलाल, कमलेश कुमार, कवराराम, देवाराम, हरखाराम, अन्नाराम, मांगीलाल, माधाराम, मालाराम, सेनसिंह, सेलगर स्वामी सहित बड़ी संख्या में किसान मौजूद थे।
किसानों और एसडीएम के बीच वार्ता विफल
टेल तक पानी पहुंचाने की मांग पर को लेकर नर्मदा नहर परियोजना के समक्ष किसानों की भूख हड़ताल चौथें दिन जारी रही वहीं गुरूवार सुबह को उपखंड अधिकारी भूपेन्द्र कुमार यादव ने धरना स्थल पर पहुंच कर किसानों से वार्ता की। इस दौरान किसान अपनी मांग पर अड़े रहे। इस दौरान नर्मदा अधिकारियों द्वारा उपेक्षा करने का आरोप लगाया। इस दौरान सहमति नहीं होने पर वार्ता विफल हो गई।
डॉक्टरों की टीम ने किसानों की स्वास्थ्य जांच
डॉक्टरों की टीम पहुंचने के बाद सभी अनशन पर बैठने वालों की जांच की गई। प्रशासन द्वारा नियुक्त सरकारी अस्पताल की टीम धरना स्थल पर पहुंच और उसके बाद ही अनशन पर बैठे किसानों की मेडिकल जांच की गई। भूख हड़ताल पर बैठें किसानों में से चार जनों के स्वास्थ्य में गिरावट दर्ज की गई है। डॉक्टरों ने बताया कि भोजन और पानी की कमी के कारण ऐसा हुआ है। डॉक्टरों की टीम ने ड्रिप लगाने की सलाह दी, लेकिन किसानों ने मना कर दिया। उन्होंने कहा कि टेल तक पानी पहुंचाने की मांग पूरी नहीं होगी तब तक हम अनशन पर बैठे रहेंगे।
यह बैठें भूख हड़ताल पर
नर्मदा नहर परियोजना विभाग के समक्ष किसानों की भूख हड़ताल चौथें दिन जारी रही। वहीं इस दौरान भूख हड़ताल पर पहले दिन उमाराम मेघवाल, दिनेश सैन, मगाराम मेघवाल, रवजीराम चौधरी वहीं दूसरे दिन धुडाराम सैन, लखामाराम, जोगाराम, कुम्भाराम, ईशराराम कोली व नागजीराम का आमरण अनशन चौथें दिन जारी रहा। वहीं आमरण अनशन पर बैठें किसानों की तबीयत बिगड़ती जा रही है। इस दौरान बड़ी संख्या में किसान धरने पर बैठे हुए है।

जालोर में सचिव की पहल से जेल में अनपढ़ बंदी सीख रहे आखर ज्ञान


जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव नरेन्द्रसिंह की पहल
-जिला मुख्यालय सहित जिले की भीनमाल उपकारागृह में चल रही है बंदियों के कक्षाएं
जालोर। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जालोर की ओर से निरक्षर बंदियों को साक्षर करने की सकारात्मक पहल शुरू की गई है, कारागृह में प्रतिदिन कक्षाएं लगाई जा रही है जिसमें बंदियों को आखर ज्ञान दिया जा रहा है। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव नरेन्द्रसिंह ने सबसे पहले जिला मुख्यालय पर स्थित जिला कारागृह में निरक्षर बंदियों को साक्षर करने का कार्य शुरू करवाया। जिसके लिए उन्होंने साक्षरता विभाग के अधिकारियों से वार्ता कर बंदियों को स्लेट, स्लेट पेन व नोटबुक उपलब्ध करवाई गई तथा कारागृह के उप कारापाल को निर्देशित किया गया कि कारागृह में ऐसे बंदी जो पढे लिखे हैं उनको प्रोत्साहित किया जाये जो उनके साथी निरक्षर बंदियों को पढाने के लिए तैयार हो। सहायक कारापाल सईद अब्दुल ने कारागृह में पढे लिखे बंदियों को प्रोत्साहित किया तो शुरू में दो बंदी इस कार्य के लिए स्वेच्छिक रूप से तैयार हो गये। जिला कारागृह में दो बंदियों द्वारा सबसे पहले प्रतिदिन कक्षाएं लगाई जाकर बंदियों को साक्षर करने का कार्य शुरू किया गया, प्रयोग सफल होने पर जिले के भीनमाल उप कारागृह में भी पाठ्य सामग्री उपलब्ध करवाकर वहां पर निरक्षर बंदियों को साक्षर करने का कार्य शुरू किया गया। प्रयोग सफल होने पर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव नरेन्द्रसिंह ने अब सांचौर उपकारागृह में भी ऐसी ही कक्षाएं लगाये जाने के निर्देश दिये गये है।
-निरीक्षण के दौरान आया ख्याल
जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव नरेन्द्रसिंह की ओर जिले की जिला मुख्यालय की जेल में साप्ताहिक निरीक्षण के दौरान बंदियों से वार्तालाप के दौरान यह तथ्य सामने आया कि यहां पर कई बंदी ऐसे है जो निरक्षर है, उन्हें अक्षर ज्ञान नहीं है और वे हस्ताक्षर करने के स्थान पर अंगूठा लगाते हैं। तब उन्होंने ऐसे बंदियों को साक्षर करने के लिए योजना बनाई। उन्होंने जेल में बंद साक्षर और पढे लिखे बंदियों को इस कार्य में सहयोग की बात कही और अनपढ बंदियों को पढाने के लिए आगे आने का आह्वान किया। इसके लिए उन्होंने सहायक कारापाल को निर्देश दिये कि कारागृह में अनपढ बंदियों को पढाने के लिए पढेलिखे बंदियों को प्रोत्साहित किया जावें।
-अनपढ बंदियों ने सीख लिया अपना नाम
जिला कारागृह में कई बंदी जो पहले हस्ताक्षर करने के स्थान पर अंगूठा लगाते थे, अब वे अपना खुद का नाम लिखने लगे है। इसके अलावा अक्षर ज्ञान भी सीख रहे है।
-अन्य बंदी भी कर रहे सहयोग
कारागृहों में नोटबुक, स्लेट व किताबें उपलब्ध करवाने के बाद अब अन्य साक्षर बंदी भी अपने साथी निरक्षर बंदियों को साक्षर करने के लिए आगे आ रहे हैं और वे उनको अक्षर ज्ञान सीखा रहे है।

सांसद देवजी पटेल ने गायों की स्वदेशी नस्लों के सरंक्षण और संवर्धन तथा गोकुल ग्रामों की संख्या में बढोतरी करने का मुद्दा उठाया

-गायों की स्वदेशी नस्लो का संरक्षण एवं संवर्धन किया जाये : सांसद पटेल
मरूलहर न्यूज
सांचौर। जालोर-सिरोही लोकसभा सांसद देवजी पटेल ने शुक्रवार को 17 वीं लोकसभा के द्वितीय सत्र में राष्ट्रीय गोकुल मिशन के अन्तर्गत गायों की स्वदेशी नस्लो के सरंक्षण और संवर्धन तथा गोकुल ग्रामों की संख्या में बढोतरी करने का मुद्दा रखा। सांसद देवजी पटेल ने मत्स्यपालन, पषुपालन और डेयरी राज्य मंत्री डॉ. संजीव कुमार बालियान से प्रश्न करते हुए कहा कि विगत तीन वर्षो के दौरान देश में राष्ट्रीय गोकुल मिशन के अन्तर्गत गायों की स्वदेशी नस्लों के सरंक्षण और संवर्धन के लिए राज्य-वार क्या कार्य किए गए है। उक्त मिशन के मुख्य उद्देश्य क्या है और विगत तीन वर्षो के दौरान इनको प्राप्त करने के लिए सरकार द्वारा क्या प्रयास किए गए है, विगत तीन वर्षो के दौरान इस मिशन के अन्तर्गत आवंटित एवं खर्च धनराशि का ब्यौरा क्या हैं तथा इस मिशन के अन्तर्गत राजस्थान हेतु स्वीकृत गोकुल ग्रामों की संख्या क्या है, सरकार की राष्ट्रीय गोकुल मिशन के अन्तर्गत गोकुल ग्रामों की संख्या में बढोतरी करने की योजना है यदि हां तो तत्संबंधी ब्यौरा क्या है। सांसद पटेल के प्रश्न का जवाब देते हुए राज्य मंत्री डॉ. संजीव कुमार बालियान ने बताया कि राष्ट्रीय गोकुल मिशन को देशी बोवाईन नस्लों के विकास और संरक्षण बोवाईनों के दुध उत्पादन और उत्पादकता को बढाने और इस प्रकार किसानों के लिए दुध उत्पादन को और लाभकारी बनाने के उद्देश्य से कार्यान्वित किया जा रहा है इस मिषन के उद्देश्यो को प्राप्त करने के लिए किए गए कार्य इस प्रकार हैं। गोकुल ग्राम देशी बोवाईन नस्लों का वैज्ञानिक तथा समेकित रूप से संरक्षण और विकास करने के उद्देश्य से राष्ट्रीय गोकुल मिशन के अंतर्गत 21 एकीकृत देसी गो पशु विकास केन्द्र गोकुल ग्राम स्थापित किए जा रहे हैं। राष्ट्रीय कामधेनु प्रजनन केन्द्र, पशु संजीवनी के अंतर्गत 12 अंकीय विशिष्ट पहचान संख्या के साथ पॉली युरेथीन टैग का उपयोग करते हुए पशुओं की पहचान की जा रही और उनका आईएनएपीएच डाटाबेस पर अपलोड किया जा रहा हैं। नवम्बर 2019 तक 3.55 करोड़ पशुओं को टैग किया जा चुका हैं। राष्ट्रीय गोपाल रत्न और कामधेनु पुरस्कार, कृषि कल्याण अभियान, राष्ट्रव्यापी, आई कार्यक्रम, भु्रण अंतरण और इन-विट्रो निशेचन केन्द्रों को स्थापित करना व सुदृढ करना, देशी नस्लो के लिए राष्ट्रीय बोवाईन जीनोमिक केन्द्र इत्यादि। उन्होंने बताया कि पिछेले तीन वर्षो तथा वर्तमान वर्ष के दौरान राष्ट्रीय गोकुल मिशन के अंतर्गत कुल 1362 करोड रूपये आवंटन किए गए एवं 1310.41 करोड़ रूपये व्यय किये गये। देेश में कुल 21 गोकुल ग्राम स्थापित करने के लिए निधिया संस्वीकृत की गई है। राजस्थान राज्य की सरकार से गोकुल ग्राम या भू्रण अंतरण प्रद्योयोगिकी व इन विट्रो निशेेचन प्रयोगशालाएं स्थापित करने संबंधी कोई प्रस्ताव प्राप्त नही हुआ हैं।

सांचौर में बीमारियों की रोकथाम के लिए पिलाया आयुर्वेदिक काढ़ा

सांचौर। शहर के सार्वजनिक स्थानों तथा स्कूलों के विद्यार्थियों को बीमारियों के रोकथाम के लिए आयुर्वेदिक विधि से तैयार किया गया काढ़ा पिलाया गया। पतंजलि युवा भारत जालोर एव जीगर स्टूडियों के संयुक्त तत्वावधान में भामाशाहों के सहयोग से चार रास्ता पर पतंजलि मार्केटिंग द्वारा नि:शुल्क आयुर्वेदिक काढ़ा वितरण किया गया। काढ़े का वितरण सुबह से चार बजे तक किया गया। यह काढ़ा बीमारियों का प्रकोप ज्यादा होंने की वजह से डेंगू, चिकनगुनिया, मलेरिया, खांसी, बुखार, नजला, सर्दी जुकाम आदि मौसमी बीमारियों की रोकथाम करता है। इसको लिए युवा भारत द्वारा नि:शुल्क वितरण किया गया। वहीं शहर के हायर सैकण्डरी स्कूल के बच्चों को भी पिलाया गया। यह काढ़ा डेंगू, सर्दी, जुकाम, ज्वर आदि बीमारियों सहित अन्य मौसमी बीमारियों से बचाव में उपयोगी है। इस दौरान जिला प्रभारी गणपत दवे, तहसील प्रभारी रमेश राजपुरोहित, सोशल मीडिया प्रभारी हरिश पंवार, प्रधानाचार्य डॉ. प्रवीण पंड्या, नरेंद्र शर्मा, भंवरसिंह, शिक्षक तेजाराम जाणी, मोड सिंह चौहान, भाणूमल बिश्नोई, पोपटलाल जोशी, कल्याणसिंह, रवि जीवनानी, रविन्द्र माली, सेंधाकाम चौधरी सहित बड़ी संख्या में गणमान्य लोग मौजूद थे।

नर्मदा विभाग ने नर्मदा नहर व खेतों से मशीनें व पाईप हटाए, इधर किसानों ने किया प्रदर्शन

सांचौर। क्षेत्र में नर्मदा नहर परियोजना के अधिकारियों ने मंगलवार को टीम के साथ जाकर किसानों के मशीनें व अवैध पाइप हटाए। मंगलवार को विभाग ने चौरा, अरणाय, धानता, भूरा की ढाणी, कारोला, लाछड़ी, जाजूसन, गरडाली, माखुपुरा सहित कई गांवों से जेसीबी की सहायता से किसानों के इंजन व पाईप हटाए गए। रबी की फसल के नियमित जलापूर्ति व किसानों के हिस्से पानी देने व विभाग द्वारा पंप व पाइप हटानेे के विरोध में किसानों ने नर्मदा विभाग पर धरना प्रदर्शन कर विरोध जताया। वहीं किसानों के इंजन व पाईप लाकर विभाग के कार्यालय के बाहर रख दिए। इसके बाद किसानों ने पूर्व विधायक जीवाराम चौधरी के नेतृत्व में बुधवार को नर्मदा नहर परियोजना विभाग में पहुंच कर प्रदर्शन किया। तथा आक्रोशित किसानों ने प्रदर्शन कर उपखंड मुख्यालय पर पहुंच कर उपखंड अधिकारी को ज्ञापन सौंपा। विभाग के अधिकारियों के खिलाफ प्रदर्शन कर ज्ञापन सौंपा। वहीं किसानों ने ज्ञापन में बताया कि सांचौर लिफ्ट कैनाल की शुरूआत 2008 में हुई तब से वर्ष 2018 तक किसान जो लिफ्ट कैनाल के नजदीय थे उन्होंने अपने खेतों तक स्वयं के खर्चे से इंजन व पाइप लाईन डालकर रबी की फसल की सिंचाई शुरू कर दी आज दिन तक यहीं सिंचाई की प्रक्रिया सुचारू रूप से चल रही थी। अब वर्ष 2019 की रबी सीजन से जब किसानों ने अपने खेतों में बुवाई कर दी है लेकिन प्रशासन जबरन उनके पाईप लाईनों एवं इंजनोंं को तोडफ़ोड़ कर रहे है। जिससे किसान कर्ज के बोझ तले दब रहे है। गत वर्ष की तरह इस बार भी नर्मदा नहर विभाग द्वारा नहर में कम पानी छोडऩे के कारण किसानों बार-बार प्रताडि़त किया जा रहा है। समस्या की गंभीरता को देखते हुए इस वर्ष की रबी सीजन हेतु नगर नहर परियोजना प्रशासन द्वारा पर्याप्त मोटरें सुचारू रूप से चलवाकर किसानों को इस रबी सीजन में पानी लेने दिया जाए। ज्ञापन में बताया कि नर्मदा विभाग प्रशासन के द्वारा मंगलवार को किसानों की मशीनें, मोटरें, पाईप लाईन, सेक्शन, पंखे बेवजह तोड़कर किसानों का नुकसान किया गया है। जिसको लेकर बुधवार को किसानों ने नर्मदा नहर परियोजना कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन किया। इस दौरान बड़ी संख्या में किसान मौजूद थे।
किसानों ने किया प्रदर्शन
मंगलवार को विभाग की ओर से नर्मदा नहर से मशीनें व पाइप हटाने के बाद बुधवार को नर्मदा नहर परियोजना कार्यालय में पहुंच कर किसानों ने प्रदर्शन किया। वहीं विभाग की ओर से हटाई गई मशीनों व पाइप को लेकर उपखंड मुख्यालय पर पहुंच कर आक्रोशित किसानों ने विरोध जताते हुए विभागीय अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी कर रोष जताया। वहीं किसान मशीनें व पाइप वापस लेने की मांग पर अड़े रहे। जिस पर जनप्रतिनिधियों ने किसानों की मशीनें व पाइप वापस देने की मांग की। जनप्रतिनिधियों ने किसानों को टेल तक समय पर पानी देने एवं मशीनें व पाइप वापस देने की मांग की। इस दौरान उपखंड मुख्यालय पर पहुंच किसानों ने उपखंड अधिकारी को ज्ञापन सौंपा।
धरना प्रदर्शन करने की दी चेतावनी
विभाग की ओर से टेल तक पानी देने एवं किसानों की मशीनें व पाइप वापस देने की मांग को लेकर जनप्रतिनिधियों ने उपखंड मुख्यालय पर पहुंच कर उपखंड अधिकारी को ज्ञापन सौंपा। तथा जनप्रतिनिधियों ने उपखंड अधिकारी भूपेन्द्र कुमार यादव को कहा कि किसानों को समय पर टेल तक पानी दिया जाए तथा किसानों की जब्त की गई मशीनें व पाइप वापस दिया जाए। जिसको लेकर पूर्व विधायक जीवाराम चौधरी ने किसानों की मांगे पूरी नहीं होने पर उपखंड मुख्यालय के समक्ष भूख हड़ताल व धरना प्रदर्शन करने की चेतावनी दी।

सांचौर में धींगपुरा में टेल तक पानी पहुंचाने की मांग को लेकर नर्मदा विभाग के समक्ष भूख हड़ताल तीसरे दिन जारी

सांचौर। रबी की सीजन में पानी की मांग को लेकर धींगपुरा के किसानों का नर्मदा नहर परियोजना विभाग के समक्ष भूख हड़ताल तीसरे दिन जारी। नर्मदा नहर में सिंचाई के लिए पानी छोड़ा था, लेकिन अभी तक टेल के किसानों को पानी नहीं मिल रहा है। इसको लेकर सांचौर व चितलवाना दोनों क्षेत्रों के किसानों में रोष गहरा गया है। इधर, धींगपुरा के किसान लगातार पानी की मांग को लेकर नर्मदा नहर परियोजना विभाग के समक्ष आमरण अनशन व धरना प्रदर्शन कर रहे हैं, जिसके बाद भी पानी टेल तक नहीं पहुंच पा रहा है। नर्मदा नहर परियोजना के समक्ष भाजपा नेता दानाराम चौधरी के नेतृत्व में किसानों को आमरण अनशन व धरना तीसरे दिन भी जारी रहा। वहीं मांगों को लेकर किसानों ने पानी की मांग को लेकर प्रदर्शन कर ज्ञापन सौंपा। ऐसे में विभाग की ओर से धींगपुरा के किसानों को पानी नहीं मिलने से टेल के किसान सिंचाई नहीं कर पा रहे हैं। पानी की मांग को लेकर किसानों का धरना-प्रदर्शन जारी है। इस दौरान किसानों ने बताया कि विभाग के कार्यालय जाने पर अधिकारी उनकी सुनवाई नहीं कर रहे हैं। किसानो का आरोप है कि विभाग की ओर से तैयार की गई अधिकांश डिग्गियां आज भी अधूरी पड़ी हैं। किसानों ने बताया कि नर्मदा विभाग की ओर से नहर की वितरिकाओं में टेल तक पानी नहीं छोड़ा जा रहा है। जिसके कारण लोगों को परेशान होना पड़ रहा है। किसानों के खेतों में हजारों हेक्टयर में खड़ी फसल बर्बाद हो रही है, लेकिन टेल तक पानी नहीं छोड़ा जा रहा है। भाजपा नेता दानाराम चौधरी ने कहा कि नर्मदा विभाग के अधिकारियों की लापरवाही के कारण पानी किसानों को नहीं मिल पा रहा है। उन्होंने कहा कि किसानों के साथ किसी प्रकार का अन्याय नहीं होने दिया जाएगा, जिसको लेकर बड़े स्तर पर धरना प्रदर्शन भी करेंगे। किसानों ने बताया कि टेल तक पानी नहीं पहुंच पा रहा है। इससे फसल की सिंचाई नहीं हो पा रही है। सिंचाई के अभाव में फसल खराब हो रही है। इस दौरान पूर्व विधायक जीवाराम चौधरी, भाजपा वरिष्ठ नेता मोतीराम चौधरी, किसान नेता छोगाराम चौधरी, दुर्गाराम चौधरी, नरपतसिंह अरणाय, सवाराम पुरोहित ने धरने को सम्बोधित किया। इस मौके पर अमराराम, रमेश कुमार, विक्रमकुमार, खंगाराम, सवजीराम, वरजांगाराम, ओखाराम, कुम्भाराम, धनाराम, सोमाराम, मोडाराम, भगाराम, पृथ्वीराज, मालाराम, भंजनलाल, कमलेश कुमार, कवराराम, देवाराम, हरखाराम, अन्नाराम, मांगीलाल सहित बड़ी संख्या में किसान मौजूद थे।
यह बैठे भूख हड़ताल पर
नर्मदा नहर परियोजना विभाग के समक्ष किसानों की भूख हड़ताल तीसरे दिन भी जारी रही। इस दौरान भूख हड़ताल के पहले दिन उमाराम मेघवाल, दिनेश सैन, मगाराम मेघवाल, रवजीराम चौधरी वहीं दूसरे दिन धुडाराम सैन, लखामाराम, जोगाराम, कुम्भाराम, ईशराराम कोली व नागजीराम, आमरण अनशन पर बैठें। इस दौरान बड़ी संख्या में किसान धरने पर बैठे हुए है।
विभाग की लापरवाही किसानों पर भारी
नर्मदा नहर के अधिकारियों की लापरवाही किसानों पर भारी पड़ रही है। किसानों ने खेतों को तैयार कर बीज बो दिए। लेकिन नर्मदा नहर के अधिकारियों की लापरवाही से किसानों को पानी नही मिल रहा है। कई बार विभाग के अधिकारियों ने टेल तक पानी छोडऩे की मांग की गई लेकिन अधिकारियों का एक ही रटा-रटाया जवाब मिलता है कि एक दो दिन में पानी आ जाएगा।
बारी के बावजूद नहीं मिला पानी
नर्मदा विभाग की ओर से पानी वितरण को लेकर पूर्ण रूप से मॉनीटरिंग तक नहीं की जा रही है। जिससे विभागीय अधिकारियों द्वारा मनमर्जी से ही पानी छोड़ा जा रहा है ऐसे में किसानों ने विरोध जताते हुए समय पर पानी देने की मांग की। वहीं विभागीय अधिकारियों के खिलाफ रोष जताया।

सांसद पटेल ने लोकसभा में राष्ट्रीय राजमार्गो व पूलों का निर्माण करवाने का उठाया मुद्दा, संसदीय क्षेत्र में राष्ट्रीय राजमार्गो व पुलो का निर्माण करवाये जाये : सांसद पटेल

सांचौर। जालोर-सिरोही लोकसभा सांसद देवजी पटेल ने 17 वीं लोकसभा के द्वितीय सत्र के दौरान शुन्यकाल के तहत झेरडा (गुजरात) से सिरोही राज्यमार्ग को राष्ट्रीय राजमार्ग में निर्माण करवाने, मंडार एवं रेवदर कस्बे के बाईपास सड़क निर्माण, जालोर आहोर मार्ग (एन.एच.325) पर स्थित समपार संख्या सी-48 के स्थान पर उपरी पुल का निर्माण करने, रोहिट-आहोर-जालोर-भीनमाल-करडा-सांचौर नेशनल हाईवे का अतिशिघ्र निर्माण शुरू करने व हिल स्टेशन माउंट आबू के गुरु शिखर तक जाने हेतु भारतमाला परियोजना के तहत सड़क निर्माण करवानेे की मांग रखी। सांसद देवजी पटेल ने लोकसभा में मांग रखते हुए कहा कि गुजरात स्थित झेरडा से सिरोही राज्यमार्ग वाया मंडार, रेवदर होते हुए यह मार्ग राष्ट्रीय राजमार्ग (एनएच 62) से मिल जाता है। झेरडा से सिरोही मार्ग पर दिन प्रतिदिन गाडियों की संख्या बढती जा रही हैं। दोनो तरफ से यह सडक राष्ट्रीय राजमार्ग से मिलने के कारण भारी वाहनों को आवागमन बढता जा रहा हैं। उन्होंने केन्द्रीय मंत्री नितिन गढकरी द्वारा की गई घोषणा का हवाला देते हुऐ झेरडा से सिरोही मार्ग को राष्ट्रीय राज्यमार्ग घोषित करवाने की मांग की। सांसद देवजी पटेल ने लोकसभा में चर्चा के दौरान झेरडा-सिरोही मार्ग पर स्थित मंडार और रेवदर दो घनी आबादी वाले कस्बे है। इन कस्बों के पास दिन मे ट्रॉफिक जाम हो जाना अब आम बात हो गयी हैं। जिससे आम नागरिकों सहित स्कूल जाने वाले छात्रों को और व्यापारियों को काफी परेशानियों का सामना करना पडता है, इसलिए रेवदर और मंडार कस्बे के पास बाईपास सड़क का निर्माण कराया जाए। सांसद देवजी पटेल के लोकसभा में चर्चा के दौरान माउंट आबू स्थित गुरु शिखर को राष्ट्रीय राजमार्ग से जोडऩे कि मांग रखते हुए कहा कि राजस्थान का पर्यटन स्थल एवं हिल स्टेशन माउट आबु को भारतमाला परियोजना के तहत सड़क निर्माण करवाने की भी घोषणा की जा चुकी परन्तु अधिकारियो की लापरवाही के कारण निर्माण कार्य नही हुआ है जिसका अतिशीघ्र निर्माण करवाया जायें। सांसद देवजी पटेल ने लोकसभा में चर्चा के दौरान बताया कि पश्चिम राजस्थान के समदड़ी-भीलड़ी रेल खंड से प्रतिदिन 45-50 मालगाडियां गुजरती हैं। इस स्थिती में लगभग हर आंधे घंटे में एक बार रेलवे क्रॉसिग बंद हो जाता हैं। आपात स्थिती मे वाहन चालकों को ट्रेन के गुजरने के बाद क्रॉसिंग के खुलने का इंतजार करना पडता हैं। उक्त स्थान मुख्यालय जालोर समीप होने के कारण यहा पुरे दिन आवागमन बाधित रहता है तथा क्रोसिंग बंद की वजह कई जाने जा चुकी हैं। उक्त समस्याओं को ध्यान में रखते हुए रेलवे समपार संख्या सी-48 पर पुर्व घोषित ऊपरी पुल का निर्माण जल्द से जल्द किया जायें। सांसद देवजी पटेल ने सदन में बताया कि प्रदेश के जोधपुर संभाग के पश्चिमी क्षेत्र में रोहिट-आहोर-जालोर-भीनमाल-करडा-सांचौर का रास्ता करीब 250 किमी लंबा हैं। यह मार्ग जोधपुर, पाली, जयपुर, अजमेर, ब्यावर एवं दिल्ली को सीधा पश्चिम क्षेत्र से जोड़ता हैं, इस मार्ग से कांडला बंदरगाह, अहमदाबाद जैसे गुजरात के बडे शहरों से सीधा सम्र्पक होता है। साथ ही यह सड़क मार्ग जिले के सभी उपखंड क्षेत्र को जालोर जिला मुख्यालय एवं जोधपुर संभाग से जोड़ता हैं। इस मार्ग पर प्राचीन धार्मिक स्थल होने के साथ-साथ अंतराष्ट्रीय पाक सीमा से जुडऩे वाला मुख्य राजमार्ग हैं। इस सड़क मार्ग कों राष्ट्रीय राजमार्ग में निर्माण के लिए उदयपुर में सड़क परिवहन केन्द्रीय मंत्री द्वारा घोषणा की जा चुकी थी। लेकिन अभी तक इस सड़क के संबंध में किसी भी प्रकार कोई प्रगति नही हुई है। सांसद पटेल ने आम लोगों की भावनाओं तथा क्षेत्र के विकास को मध्यनजर रखते हुए उक्त सड़क मार्ग कों अतिशीघ्र राष्ट्रीय राजमार्ग के रूप में प्रगति के पथ पर आगें बढवानें की मांग की।

सांचौर में शिक्षक संघ प्रगतिशील का प्रांतीय अधिवेशन 6 व 7 को, जोरों पर तैयारियां, सम्मेलन की तैयारियों को लेेकर बैठक आयोजित, सौंपी जिम्मेदारी

सांचौर। राजस्थान शिक्षक संघ प्रगतिशील का प्रांतीय शैक्षिक अधिवेशन आगामी 6 व 7 दिसंबर को राजकीय उच्च माध्यमिक में आयोजित किया जाएगा। संगठन के जिलाध्यक्ष किशनलाल सारण ने बताया कि प्रांतीय शैक्षिक अधिवेशन के सफल आयोजन को लेकर तैयारियां जोरों पर हैं और संपूर्ण क्षेत्र में उच्च स्तर पर प्रचार-प्रसार किया जा रहा है और प्रत्येक विद्यालय तक आमंत्रण दिया जा रहा है। सम्मेलन के दो दिवस में नवीन शिक्षा नीति 2019 शिक्षा, शिक्षक, शिक्षार्थी के आदि के बारे में विचार मंथन का राज्य सरकार को प्रस्ताव भेजा जाएंगे और समस्याओं को हल करने की ठोस रणनीति तैयार की जाएगी। सम्मेलन की तैयारियां जोरो पर चल रही है। वहीं सम्मेलन की तैयारियोंं को लेकर सोमवार को बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें विभिन्न कमेटियों का गठन कर जिम्मेंदारी सौंपी गई। सम्मेलन में अधिकाधिक भागीदारी हेतु संपूर्ण क्षेत्र में युद्ध स्तर पर प्रचार प्रसार किया जा रहा है और सम्मेलन के लिए पीले चावल बांटे जा रहे हैं।
इनके आतिथ्य में होगा सम्मेलन का उद्घाटन
सम्मेलन का उद्घाटन 6 दिसम्बर को राजस्व मंत्री हरीश चौधरी, शिक्षा राज्यमंत्री गोविंदसिंह डोटासरा, वन एवं पर्यावरण राज्यमंत्री सुखराम बिश्नोई, उच्च शिक्षा मंत्री भंवरसिंह भाटी, पूर्व मुख्य सचेतक रतन देवासी, कांग्रेस जिलाध्यक्ष डॉ. समरजीतसिंह, जालोर पूर्व विधायक रामलाल मेघवाल, भेड़ एवं ऊन विकास बोर्ड भारत सरकार के पूर्व चेयरमैन केसरलाल चौधरी, मांगीलाल सारण, प्रगतिशील समाज सेवा ट्रस्ट, अतिथि के तौर पर भाग लेंगे।
तैयारियों को लेकर बैठक आयोजित
सम्मेलन को भव्य और सफल आयोजन हेतु सोमवार को शिक्षक भवन में सम्मेलन संयोजक सुरजनराम साहू की अध्यक्षता में आयोजन समिति की बैठक की गई। बैठक में अब तक की गई व्यवस्थाओं की समीक्षा तथा विभिन्न कमेटियों जिसमें स्वागत कमेटी, भोजन कमेटी, पंजीयन कमेटी, आवास कमेटी, बैठक व्यवस्था कमेटी का गठन कर प्रभारी नियुक्त किए गए। बैठक में सम्मेलन सह संयोजक प्रभाराम चौधरी, उप संयोजक छोगाराम सारण, सुखराम साऊ, ब्लॉक अध्यक्ष बाबूलाल कुराड़ा, ब्लॉक मंत्री जवाहर मेघवाल, प्रदेश पदाधिकारी भागीरथ जानी, चितलवाना ब्लॉक अध्यक्ष रामनिवास साऊ, रामनिवास बुडिय़ा, प्रेमाराम पूनिया, हरीराम सारण प्रदेश कोषाध्यक्ष, राणाराम सारण, राजेंद्र साहू, शैतानराम सारण, गणपत लाल विडार, किशनलाल ढाका, किशोर कुमार शर्मा, प्रकाश कुराड़ा, ओमप्रकाश, गणपतलाल, रमेश जानी, बुदाराम गोदारा, पीसी गीला, तालिब खान, श्रवण गोदारा, दिनेश साहू, मोहनलाल समेत कई शिक्षक उपस्थित थे।

सांचौर :बच्चों ने किया वन्यजीव उपचार केन्द्र का भ्रमण

सांचौर। जंभेश्वर पर्यावरण एवं जीवरक्षा प्रदेश संस्था द्वारा संचालित श्री जंभेश्वर वन्यजीव उपचार केंद्र धमाणा का गायत्री विद्या मंदिर के बच्चों ने भ्रमण किया। छात्र छात्राओं ने वन्यजीवों के बारे में जानकारी हासिल की। इस दौरान गायत्री विद्या मंदिर के स्टाफ के साथ नन्हें मुन्ने बच्चों सहित उपचार केंद्र पर पहुंच कर भ्रमण किया। विद्यालय संस्था प्रधान नारायणलाल सुथार व राजूराम सारण ने उपचार केंद्र में घायल वन्यजीवों को नजदीक से देखा एवं उसी समय एक घायल हिरण को पर्यावरण प्रेमियों ने रेस्क्यू करवाया तो मूक प्राणियों को देखकर हाथोंहाथ ग्यारह हजार रुपये का चैक संस्था के पदाधिकारियों सुपुर्द किया। इस दौरान बच्चों को वन्य जंतुओं का पारिस्थितिकी तंत्र में महत्व और संरक्षण की जानकारी दी। संस्था प्रधान नारायणलाल सुथार ने बच्चों को वन्य जीवों के महत्व व संरक्षण की जानकारी दी। बच्चों ने भ्रमण के दौरान प्राप्त जानकारियों को अपनी नोट बुक में दर्ज किया। वन्यजीव हिरण, मोर, खरगोश, बंदर आदि जानवरों को देखा। उनके आचार विचार को समझने की कोशिश भी की।

जालोर में 5 पाक विस्थापितो को भारतीय नागरिकता प्रदान, विशेष शिविर में नागरिकता के लिए आवेदन पत्रों की हुई जाॅच

जालोर। जिला मजिस्ट्रेट महेन्द्र सोनी ने मंगलवार को 5 पाक विस्थापितों को भारतीय नागरिकता के प्रमाण पत्र प्रदान किये वही आयोजित विशेष शिविर में नागरिकता के लिए लम्बित 42 आवेदन पत्रों से सम्बन्धित व्यक्तियों एवं परिवारजनों से नागरिकता के लिए आवश्यक कागजातों में कमी की पूर्ति करते हुए प्रस्तुत प्रमाण पत्रों आदि की जांच भी की गई।कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में मंगलवार को भारतीय नागरिकता दिए जाने से सम्बन्धित बकाया आवेदन पत्रों में रही कमियों की पूर्ति के लिए विशेष शिविर का आयोजन किया गया जिसमें 42 प्रकरणोे से सम्बन्धित व्यक्तियों से आवश्यक कागजातों को शीघ्र ही प्रस्तुत किये जाने का कहा गया ताकि उन्हें शीघ्र ही भारतीय नागरिकता मिल सकें। इस अवसर पर 5 पाक विस्थापितों को भारतीय नागरिकता के प्रमाण पत्र प्रदान करने के उपरान्त जिला मजिस्ट्रेट महेन्द्र सोनी ने कहा कि जिले में इस वर्ष 30 व्यक्तियों को नागरिकता प्रदान की जा चुकी है तथा शेष 42 प्रकरणों की भी कार्यवाही जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन के माध्यम से त्वरित गति की जा रही है। उन्होनें कहा कि आगामी 31 मार्च तक शेष रहे सभी लोगों को नागरिकता के प्रमाण पत्र प्रदान किये जाने की दिशा में आवश्यक कार्य किया जा रहा है वही आवेदन पत्रों में रही आॅपचारिकताओं की पूर्ति भी सम्बन्धित व्यक्ति शीघ्र ही कर लेवे। उन्होनें कहा कि विस्थापन्न का जो दर्द आप लोगो ने सहन किया है अब उससे आप को छुटकारा मिला है तथा अपने परिवारजनों के साथ आपको भारतीय नागरिक के नाते सभी अधिकार प्रदान हुए है वही अपने बच्चों की शिक्षा एवं परवरिश भी आराम से कर सकेगें। शिविर में जिला मजिस्ट्रेट महेन्द्र सोनी ने दिलीपसिंह, छगनीबाई, हीरो, श्रीमती सुगना एवं श्रीमती जस्मा को भारतीय नागरिकता के प्रमाण पत्र प्रदान किये। इस अवसर पर अतिरिक्त जिला कलक्टर छगनलाल गोयल एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सत्येन्द्रपालसिंह तथा राज्य के गृह विभाग (4) के सेक्शन आफिसर श्यामलाल मीणा व डायाराम सहित अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी तथा बडी संख्या में पाक विस्थापित परिवारजन उपस्थित थे।

संयुक्त निदेशक राठौड ने किया स्वास्थ्य भवन का निरीक्षण

जालोर, 2 दिसम्बर। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग जोधपुर जोन के संयुक्त निदेशक डॉ. युद्धवीरसिंह राठौड ने सोमवार को जिले के स्वास्थ्य भवन सहित चिकित्सा संस्थानों का किया निरीक्षण। सीएमएचओं डॉ. गजेन्द्रसिंह देवल ने बताया संयुक्त निदेशक डॉ. युद्धवीरसिंह राठौड ने सोमवार को जिले के स्वास्थ्य भवन सहित चिकित्सा संस्थानों का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने भाद्राजून स्थित शिवम हॉस्पिटल में आयुष्मान भारत, महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना, जननी सुरक्षा योजना एवं सोनोग्राफी का निरीक्षण कर पीसीपीएनडीटी अधिनियम का सख्ति से पालन करने के निर्देश दिए। उसके बाद जिला मुख्यालय पर स्वास्थ्य भवन सीएमएचओ ऑफिस का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान जिला औषधी भण्डार में दवाओं की उपलब्धता, रखरखाव एवं स्टाफ की उपस्थिति का निरीक्षण कर आवश्यक निर्देश दिए। इस दौरान डॉ. आत्माराम चौहान, आरसीएचओ डॉ. आरएसभारती, डॉ. सुरेश, जिला कार्यक्रम प्रबंधक चरणसिंह, हरफूल घिंटाला साथ रहे।

तीन दिवसीय रात्रिकालीन वॉलीबॉल प्रतियोगिता का समापन, अमर ऑटो पाट्स गुडामालानी की टीम रही विजेता

सांचौर। तीन दिवसीय रात्रिकालीन शूटिंग वॉलीबॉल प्रतियोगिता का समापन रविवार देर रात्रि को तहसीलदार पीताम्बरदास राठी के मुख्य आतिथ्य एवं डॉ. भूपेंद्र बिश्नोई की अध्यक्षता में किया गया। प्रतियोगिता में फाइनल मुकाबला अमर ऑटो पाट्र्स गुड़ामालानी और जोंडियर ट्रेक्टर सांचौर के बीच खेला गया। जिसमें अमर ऑटो पाट्र्स गुड़ामालानी की टीम विजेता बनी। वहीं दूसरे स्थान पर जोंडियर ट्रेक्टर सांचौर की टीम रही। प्रतियोगिता के समापन समारोह में तहसीलदार पिताम्बरदास राठी ने कहा कि 1984 में हम सभी ने मिलकर नेहरू स्पोट्र्स क्लब की नींव रखी थी। जो आज करीबन 35 साल बाद भी अपनी जिम्मेदारियों पर अडिग हैं। उन्होंने कहा कि खेल ही एक ऐसी कड़ी है जो सभी वर्गों को जोड़े हुए रखती हैं। उन्होंने कहा कि ने हार व जीत को एक ही सिक्के के दो पहलू बताते हुए खिलाडिय़ों से खेल भावना से खेलने पर जोर दिया। डॉ. भूपेंद्र विश्नोई ने कहा कि खेल में हार को एक प्रयास मानकर आगे बढऩा चाहिए। उन्होंने कहा कि हारने वाले को हार से भविष्य में जीत की सीख लेना चाहिए। असफलता ही सफलता की कुंजी होती है। इसे अपनी तैयारियों का एक परिणाम मानकर आगे इससे भी बेहतर रिजल्ट देने को तैयार होना चाहिए। प्रतियोगिता में जोंडियर ट्रैक्टर सांचौर की टीम के खिलाड़ी को बेस्ट नेटर से नवाजा गया। वहीं सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी में केके हॉस्पिटल की टीम के खिलाड़ी को नवाजा गया। इस अवसर पर पहले स्थान पर रही टीम को भामाशाह पूनमचंद ठेकेदार के द्वारा 21 हजार रुपए और ट्रॉफी व दूसरे स्थान पर रही टीम को मणिलाल मांजू एवं गणपत सारण के द्वारा 11 हजार रुपये व ट्रॉफी दी गई। इस दौरान बड़ी संख्या में शहरवासी व नेहरू क्लब के सदस्य मौजूद रहे।

नर्मदा के पानी की मांग को लेकर नर्मदा विभाग के सामने किसानों का आमरण अनशन दूसरे दिन जारी

धींगपुरा के किसानों ने मांगों को लेकर एसडीएम को सौंपा ज्ञापन
सांचौर। रबी की फसल को समय पर नर्मदा नहर का पानी देने की मांग को लेकर धींगपुरा के किसानों ने नर्मदा नहर परियोनजा मुख्य अभियंता कार्यालय के समक्ष अनिश्चित कालीन धरना पर बैठें वहीं मांगों को लेकर उपखंड मुख्यालय पर पहुंच कर एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। सौंपे ज्ञापन में बताया कि धींगपुरा जो नेहड क्षेत्र में स्थित है तथा पानी खारा होने से सिंचाई के लिए एक मात्र जरिया नर्मदा नहर की बालेरा वितरिक का पानी है। जो रबी की सफल को समय पर पानी देने से किसानों में नर्मदा विभाग के खिलाफ आक्रोश बढ़ता जा रहा है। ज्ञापन में बताया कि डिग्गीयों का संपूर्ण डिंमाड राशि भी जमा करवा दी गई है मगर इस वर्ष रबी की फसल में हमें एक बंूद भी पानी आज दिन तक नही दिया गया है। जबकि करीब काश्तकारों ने खेतों में बुवाई आदि करके करीबन एक महिना हो गया है। पहले भी पानी हेतु धरना प्रदर्शन किया था, मगर नर्मदा के अधिकारियों द्वारा पानी देने का आश्वासन देकर धरना समाप्त करवाया दिया था, लेकिन उसके बाद भी तक नर्मदा नहर का पानी नही दिया गया। बालेरा गांव तक ही पानी आ रहा है तथा उससे आगे हमारे ग्राम धींगपुरा तक पानी नही दिया जा रहा है। जिसकी मुख्य वजह हमारे हिस्से का पानी नहीं छोडऩे व बीच में प्राईवेंट लोगों को गेट आदि पर रखने से उनके द्वारा आगे पानी नही दिया जा रहा है। समय पर पानी नही दिया गया तो पानी से वंचित रहना पड़ेगा। इस दौरान किसानों ने नर्मदा नहर परियोजना विभाग के समक्ष धरना प्रदर्शन कर आमरण अनशन पर बैठे। इस दौरान भाजपा नेता दानाराम चौधरी, भाजपा वरिष्ठ नेता मोतीराम चौधरी, दुर्गाराम चौधरी, राजेन्द्रसिंह, उमाराम मेघवाल, दिनेश सैन, मगाराम मेघवाल, रविराय चौधरी, रामसीराम, सगताराम प्रजापत, रवजीराम, वरजांगाराम, रणछोडाराम, रूपाराम, भगाराम, थानाराम, पृथ्वीराज, मालाराम, कमलेश कुमार, अनाराम, ओखाराम, लखमाराम, भरत कुमार सहित बड़ी संख्या में किसान मौजूद थे।

गम के साथ गुस्सा, बोले दरिंदों को हो फांसी, सांचौर में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने दी डॉ. प्रियंका रेड्डी को श्रद्धांजलि

सांचौर। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने सोमवार को राजकीय महाविद्यालय दरबार चौक में हैदराबाद की डॉ. प्रियंका रेड्डी को श्रद्धांजलि अर्पित की। जिला सह संयोजक छगनलाल माली ने बताया कि जिस प्रकार से हैदराबाद में डॉ. प्रियंका रेड्डी के साथ सामूहिक रेप किया गया उसके बाद उन्हें जलाकर मार दिया गया। बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। उन्होंने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय व प्रधानमंत्री से मांग करता हुं की इन आरोपियों को फांसी दी जाए। इस मौके पर नगर अध्यक्ष मांगीलाल चौधरी ने कहा कि रेप के आरोपियों को फांसी की सजा होनी चाहिए। राजकीय महाविद्यालय अध्यक्ष अशोक देवासी ने कहा कि देश में जिस प्रकार से यह घटनाएं बढ़ रही है उनकी सही तरीके जांच नही हो रही है। हर साल केवल 4 प्रतिशत लोगों को ही सजा मिलती है, रेप के आरोपो में बाकी सारे लोगों का मामला कोर्ट में पेंडिंग रह जाता है। इकाई अध्यक्ष सुरेश सोलंकी ने बताया कि फांसी के बिना इन दरिंदो को किसी भी प्रकार का डर नही है। एसएफडी नगर सह संयोजक यश दवे ने बताया कि अगर सरकार इन लोगों को सख्त से सख्त सजा नही देती है तो बड़ा आंदोलन करेंगे। इस मौके पर नरपत लालपुर, इकाई अध्यक्ष अश्विन त्रिवेदी, सचिव ईश्वर देवासी, उमेश कुमार, कैलाश कुमार, मोहित देवासी, लीलाराम, सिद्धार्थ कुमार, अनिल सोनी सहित कई कार्यकर्ता मौजूद थे।

भीनमाल में घुटने एवं कुल्हे के जोड़ प्रत्यारोपण का निशुल्क जांच एवं परामर्श शिविर सम्पन्न हुआ

भीनमाल। स्थानीय ब्रह्माकुमारी राजयोग केन्द्र, भीनमाल के प्रभु वरदान भवन में ग्लोबल हॉस्पिटल एण्ड़ रिसर्च सेन्टर माउण्ट आबू के संयुक्त तत्वावधान शिविर आयोजित किया गया। शिविर में यूके, आस्ट्रेलिया, जर्मनी तथा स्वीजरलैण्ड़ से जोड प्रत्यारोपण की ट्रेनिंग प्राप्त, मुंबई के अन्तर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त अनुभवी सर्जन डॉ. नारायण खण्ड़ेलवाल एवं उनकी टीम के द्वारा कुल 113 मरीजों की नि:शुल्क जांच कर उचित मार्गदर्शन दिया गया। साथ ही ऑपरेशन योग्य 18 मरीजों को ऑपरेशन के लिए ग्लोबल हॉस्पिटल एण्ड़ रिसर्च सेन्टर माउण्ट आबू में आनें की सलाह दी गई। जहां पर उनका ऑपरेशन किया जायेगा। इससे पूर्व डॉ. नारायण खण्ड़ेलवाल एवं उनकी टीम का स्थानीय केन्द्र के भाई-बहिनों द्वारा स्वागत कार्यक्रम एवं उद्घाटन समारोह का आयोजन किया गया। इस अवसर पर ग्लोबल हॉस्पिटल एण्ड़ रिसर्च सेन्टर माउण्ट आबू के सर्जरी डीपार्टमेण्ट से डॉ. अर्चना बहन ने सभी को घुटनो के ऑपरेशन के बारे में जानकारी दी साथ ही घुटनो की देखभाल कैसे की जाए इसकी जानकारी दी। ब्रह्माकुमारी गीता बहन ने सम्बोधित करते हुए संस्थान की गतिविधियों से शिविरार्थियों को अवगत करवाया। इस अवसर पर डॉ. कैलाश, सुनिता बहन, गुमानसिंह भाई, ओमप्रकाश खेतावत आदि गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

बच्चों के साथ मनाया विश्व एड्स दिवस, विश्व एड्स दिवस के उपलक्ष में आयोजित की गई विभिन्न गतिविधियां

जालोर। चिकित्सा विभाग एवं जेएनपी प्लस संस्था के संयुक्त तत्वाधान में वात्सल्य चाईल्ड केयर होम में विश्व एड्स दिवस मनाया गया। जेएनपी प्लस संस्था प्रभारी जगदीश सांखला ने बताया की आज दिनांक 01 दिसम्बर 2019 को वात्सल्य चाईल्ड केयर होम में जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. सुरेश कुमार की अध्यक्षता में आवासीयों के साथ विश्व एड्स दिवस मनाया गया। कार्यक्रम में आवासीयों ने एचआईवी एड्स विषय पर वाद-विवाद प्रतियोगिता, चित्रकला प्रतियोगिता, रंगोली आदि गतिविधियों का आयोजन किया गया। डॉ. सुरेश कुमार ने एचआईवी संक्रमण के बारे में जानकारी देते हुये बताया की एचआईवी संक्रमण ह्नयुमन इम्युनो डिफिसिंएशी वायरस नामक विषाणु द्वारा होता हैं। एचआईवी ग्रसित व्यक्तियों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने के कारण अन्य रोग जैसे टीबी, कैंसर, मधुमेह आदि रोग होने की संभावना अन्य व्यक्तियों की तुलना में अधिक होती है। एचआईवी से ग्रसित व्यक्ति नियमित स्वास्थ्य जांच, नियमित दवाईओं को सेवन, व्यायाम, संतुलित आहार द्वारा स्वयं को स्वस्थ्य रख सकते है। जिला पीपीएम समन्वयक इमरान बेग ने एचआईवी व टीबी के बारे मे जानकारी देते हुए बताया कि आम व्यक्ति की तुलना में एचआईवी से ग्रसित व्यक्ति में टीबी होंने की संभावना अधिक होती है जिसका कारण उस व्यक्ति में रोग प्रति रोधक क्षमता का कम होना। नियमित डाट्स उपचार एवं चिकित्सक की सलाह है टीबी रोग से मुक्त हो सकते है। जब एचआईवी संक्रमित व्यक्ति अन्य किसी रोग से ग्रसित हो जाता है तो वह एड्स में परिवर्तित हो जाता है। आईसीटीसी काउंसलर कमलेन्द्र सिंह मंडलावत ने आईसीटीसी परामर्श केन्द्र में होने वाली जांचए परामर्श एवं एआरटी उपचार पद्वति के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी।
बढाया बच्चो का मनोबल एवं कपडे किए वितरित
भामाशाह रतनसिंह ने विश्व एड्स दिवस के उपलक्ष में आवासीयों को अनमोल जीवन के बारे में चर्चा करते हुए जीवन उत्साह एवं दृढ तरीके से जीने एवं स्वयं की ईच्छाशक्ति को मजबुत करने पर अपने विचार व्यक्त कर बच्चो का मनोबल बढाया। साथ ही आवासीयों को कपडे वितरित कियें। इस अवसर पर केयर होम काउंसलर खिंवसिंह राजपुरोहित, सामाजिक कार्यकर्ता के.सी. शर्मा, धर्मेन्द्र, कमला देवी, उषा कवंर, मोवन देवी एवं कई जन उपस्थित थे।

अखिल राजस्थान मुख्यमंत्री नि:शुल्क दवा वितरण योजना कम्प्यूटर ऑपरेटर महासंघ ने मांगों को लेकर सहकारिता मंत्री आंजणा को सौंपा ज्ञापन

सांचौर। अखिल राजस्थान मुख्यमंत्री नि:शुल्क दवा वितरण योजना कम्प्यूटर ऑपरेटर महासंघ जिलाध्यक्ष मांगीलाल विश्नोई के नेतृत्व में मुख्यमंत्री नि:शुल्क दवा योजना के तहत कार्यरत संविदा कम्प्यूटर ऑपरेटर (मैन विद मशीन) को नियमित करने एवं मानदेय में वृद्धि की मांग को लेकर सहकारिता मंत्री उदयलाल ऑजणा को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया कि आपकी सरकार के पिछलें कार्यकाल की बेहर महत्वकांक्षी योजना मुख्यमंत्री नि:शुल्क दवा वितरण योजना में संविदा कम्प्यूटर ऑपरेटर अधीन निदेशक जल स्वास्थ्य के हतत सितम्बर 2012 से वर्तमान में कार्यरत है। सरकार के जन घोषणा पत्र 2018 विधानसभा चुनाव में संविदा कार्मिकों को नियमितकरण के वादे के तहत मुख्यमंत्री नि:शुल्क दवा वितरण योजना में कार्यरत संविदा कम्प्यूटर ऑपरेटर को अनुभव के आधार पर नियमित करने की मांग की। ज्ञापन में बताया कि मुख्यमंत्री नि:शुल्क दवा वितरण योजना में कार्यरत संविदा कम्प्यूटर ऑपरेटर का मानदेय मई 2015 से 8500 निधार्रित है इसके पश्चात मानदेय में किसी प्रकार की बढोतरी नहीं की गई है, जबकि हमारे साथ चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत अन्य संविदा कार्मिकों के मानदेय में प्रतिवर्ष 10 प्रतिशत की वृद्धि की जा रही है सहित विभिन्न मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा। इस दौरान ब्लॉक अध्यक्ष भारमल परमार, देवाराम, दीपाराम, नरसीराम, वगताराम सहित बड़ी संख्या में कार्मिक मौजूद थे।

पूर्व विधायक चौधरी ने केक काटकर मनाया जन्मदिवस, सहकारिता मंत्री आंजणा की मौजूदंगी में मनाया जन्म दिवस

सांचौर। हाड़ेचा रोड़ स्थित निवास पर पूर्व विधायक जीवाराम चौधरी ने अपना जन्म दिवस केक काटकर मनाया। वहीं जन्म दिवस पर कार्यकर्ताओं ने मिठाई बांटी। इस दौरान पूर्व विधायक जीवाराम चौधरी ने जन्म दिवस सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजणा की मौजूदंगी में मनाया। इस दौरान सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजणा ने पूर्व विधायक जीवाराम चौधरी को माला पहनाकर बधाई एवं शुभकामनाएं दी। पूर्व विधायक के निवास पर सुबह से कार्यकर्ताओं को तांता लगा रहा है। पूर्व विधायक ने बताया कि वह हर वर्ष अपना जन्मदिन जनता के बीच ही मनाते हैं। उन्होंने कहा कि क्षेत्र के लोग ही हमारा परिवार है। वहीं इस दौरान पूर्व विधायक चौधरी को कार्यकर्ताओं एवं अन्य लोगों ने माला पहनाकर जन्म दिवस की बधाई एवं शुभकामनाएं दी। इस दौरान पालिका उपाध्यक्ष दिलीप राठी, पंचायत समिति सदस्य हरिसिंह राव, समस्त व्यापार महासंघ अध्यक्ष हरीश पुरोहित सीलु, पूर्व अध्यक्ष भोपालचंद मेहता, डॉ. नरसीराम चौधरी, धुखसिंह चौहान, हरचंदराम पुरोहित पालड़ी, प्रभु खत्री, पार्षद योगेश जोशी, जगदीश शारदा, कानसिंह परावा, हरिसिंह देवल, सांवलाराम देवासी, शैतानसिंह दांतिया, जगदीश चौधरी, सांवलाराम माली, हुकमाराम लोमरोड़, ओमप्रकाश चौधरी, कानाराम चौधरी, प्रवीण जोशी, दलपत दर्जी, रमेश राजपुरोहित, प्रमोद सोनी, भाजपा महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष शांता विश्नोई, भाजपा महिला मोर्चा नगर अध्यक्ष शर्मिला शर्मा, मितेश चौधरी, ओमप्रकाश माली, भगाराम चौधरी, दोलाराम चौधरी, भरत शर्मा, मालाराम चौधरी, श्याम चौधरी, भगाराम चौधरी, जगताराम, महादेवाराम, श्रवण खिलेरी सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता एवं अन्य लोग मौजूद थे।

जालोर में एक निर्दलीय प्रत्याशी ने नाम वापिस लिया, 26 को सभापति के लिए मतदान

जालोर 23 नवम्बर। जालोर नगर परिषद के सभापति पद के लिए नामांकन वापसी के अन्तर्गत एक निर्दलीय प्रत्याशी द्वारा नाम वापिस लिये जाने के बाद अब 2 प्रत्याशी चुनाव मैदान में है तथा 26 नवम्बर मंगलवार को सभापति पद के लिए मतदान होगा।
जालोर नगर परिषद चुनाव-2019 के रिटर्निग अधिकारी चम्पालाल जीनगर ने बताया कि सभापति पद के लिए नामवापसी की प्रक्रिया के तहत शनिवार को निर्दलीय प्रत्याशी सुशीला द्वारा नामजदगी वापिस लिये जाने के बाद अब गोविन्द (भारतीय जनता पार्टी) एवं राजेन्द्र सोंलकी (इंडियन नेशनल कांग्रेस) चुनाव मैदान में है। उन्होनें बताया कि सभापति पद के चुनाव के लिए सदस्यों को बैठक का नोटिस जारी किया गया है जिसके तहत 26 नवम्बर मंगलवार को प्रातः 10.00 बजे से दोपहर 2.00 बजे तक मतदान होगा तथा मतदान के तुरन्त पश्चात् मतगणना की जायेगी।

लक्ष्य निर्धारित कर लगातार कठिन परिश्रम करने से मिलती है सफलता : विश्नोई

सांचौर। स्थानीय राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय बावरला में आयोजित समाजोपयोगी उत्पादन कार्य एवं समाज सेवा शिविर के द्वितीय सत्र का बौद्धिक सत्र नव चयनित न्यायिक मजिस्ट्रेट आदित्य विश्नोई के मुख्य आतिथ्य में एवं विद्यालय प्रधानाचार्य डॉ. घनश्याम वैष्णव की अध्यक्षता में तथा पूर्व ब्लॉक प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी मंजीराम औदिच्य के विशिष्ठ आतिथ्य में आयोजित किया गया। इस दौरान नवचयनित न्यायिक मजिस्ट्रेट आदित्य विश्नोई का विद्यालय परिवार की ओर से साफा व माला पहनाकर स्वागत किया गया। इस दौरान नव चयनित न्यायिक मजिस्टे्रट आदित्य विश्नोई ने सम्बोधित करते हुए कहा कि अनवरत लक्ष्य के अनुसार शिक्षण किया जाए तो बड़ी से बड़ी परीक्षा भी आसानी से पास की जा सकती है। हमें अभी से हमारा लक्ष्य निर्धारित करना पड़ेगा और उस लक्ष्य को पुरा करने के लिए गुरूजनों की सहायता लेकर सफलता हालिस करनी होगी। पूर्व ब्लॉक प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी मंजीराम औदिच्य ने कहा कि शिक्षा ही सुधार का माध्यम है हमें नैतिक मूल्यों को जीवन में उतरना चाहिए, चरित्र निर्माण से ही व्यक्ति निर्माण होता है। इस दौरान प्रधानाचार्य डॉ. घनश्याम वैष्णव ने कहा कि एसयूपीडब्यलू शिविर में हम चार आदर्श व्यक्तित्व को केन्द्र में रखकर चरित्र निर्माण हेतु प्रयासरत है। जीवन में विवेकानंद, डॉ. राधाकृष्णन, पन्नाधाय व काली बाई के केन्द्र में रखकर शिविर को हमारे जीवन में उतारने का प्रयास कर रहे है। इस अवसर पर सरपंच नागजीराम, एसएमसी अध्यक्ष वीरसिंह, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष सेंधाराम मेघवाल, हड़मतसिंह, छोगसिंह, शैतानसिंह, ईश्वरसिंह, हंसाराम, शारीरिक शिक्षका परमेश्वरी विश्नोई, देवराज चौधरी, खमुराम, किशनलाल, वनाराम, जबराराम, बाबुलाल, घेवरचंद, नारायणलाल, मावाराम, जोराराम, महेश कुमार, सुरेन्द्र विश्नोई सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण व विद्यार्थी मौजूद थे।

सांचौर में प्रदेश स्तरीय शैक्षिक सम्मेलन के पोस्टर का राज्यमंत्री विश्नोई ने किया विमोचन, राजस्थान शिक्षक संघ प्रगतिशील के 59 वें प्रदेश स्तरीय सम्मेलन 6 व 7 दिसम्बर को

सांचौर। राजस्थान शिक्षक संघ प्रगतिशील के 59 वें प्रदेश स्तरीय शैक्षिक सम्मेलन के पोस्टर का विमोचन वन एवं पर्यावरण राज्यमंत्री सुखराम विश्नोई के मुख्य आतिथ्य में स्थानीय शिक्षक भवन में किया गया। संगठन के जिलाध्यक्ष किशनलाल सारण ने बताया कि प्रदेश स्तरीय सम्मेलन 6 व 7 दिसम्बर को राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में आयोजित होने जा रहा है। सम्मेलन कें आयोजन को लेकर संगठन के पेम्पलेंट का विमोचन किया। इस दौरान वन एवं पर्यावरण राज्यमंत्री सुखराम विश्नोई ने सम्बोधित करते हुए कहा कि शिक्षक समाज का पथ प्रदर्शक होता है। इस सम्मेलन में शिक्षक शिक्षार्थी एवं शिक्षकों के हित में मंथन-चिंतन कर विभिन्न बिन्दूओं पर सार्थक चर्चा करने का भरोसा दिलाया। पोस्टर के विमोचन के अवसर पर संगठन के मुख्य महामंत्री पूनमचंद विश्नोई ने प्रदेश स्तरीय एवं शिक्षकों की ज्वंलत समस्याओं पर विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होंने सांचौर के शिक्षकों को आह्वान किया कि प्रदेश स्तरीय सम्मेलन में हमें तन-मन-धन से सहयोग करने का आह्वान किया। इस दौरान सम्मेलन संयोजक सूरजनराम साऊ, जिलाध्यक्ष किशनलाल सारण, सह संयोजक प्रभाराम चौधरी ने भी सम्बोधित किया। इस अवसर पर सांचौर ब्लॉक अध्यक्ष बाबुलाल कुराडा, प्रदेश कार्यकारिणी के पदाधिकारी खींमाराम पूनिया, भागीरथ कडवासरा, छोगाराम सारण, प्रकाशचन्द्र जीनगर, सुखराम साऊ, हरीराम सारण, प्रधानाचार्य भीखाराम विश्नोई, हरीराम गुरू, दूदाराम देवासी, भोमाराम, राणाराम सारण, रूडाराम ढाका, भारूमल, रामलाल, मंगलाराम डारा, शैतानसिंह मांजू, सीबीईओं पूनमचंद विश्नोई, जवाराराम मेघवाल, प्रभाराम चौधरी, आसुराम जांणी, भेराराम साऊ, जगदीश शर्मा, अशोक पंवार, सुखराम साऊ, राणाराम विश्नोई, मोतीलाल कावा, राजुराम, भारूमल कुराड़ा, पीसी गीला, राणाराम सारण, श्याम ढाका, हरीराम, पुरखाराम गीला, विवेक शर्मा, तालिब खां, अम्बलाल राणुआ, मनोहर सियाक सहित बड़ी संख्या में शिक्षक मौजूद थे।

टेल तक पानी पहुंचाने की मांग को लेकर किसानों ने किया प्रदर्शन

सांचौर। बोरली व अमरपुरा के किसानों ने बोरली माईनर में टेल तक पानी पहुंचाने की मांग को लेकर नर्मदा नहर परियोजना कार्यालय पर किसानों ने प्रदर्शन किया। इस दौरान किसानों ने बोरली माईनर में टेल तक पानी पहुंचाने की मांग को लेेकर नर्मदा नहर परियोजना के एईएन व जेईएन से मिलकर पानी की मांग की। इस दौरान नर्मदा नहर परियोजना के अधिकारियों ने शीघ्र पानी टेल तक पहुंचाने का आश्वासन दिया। इस दौरान किसानों ने नर्मदा कार्यालय पर टेल तक पानी पहुंचाने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया तथा मांगों को लेकर नर्मदा अधिकारी को ज्ञापन सौंपा। इस दौरान पूर्व सरपंच मदरूपसिंह, पूर्व अध्यक्ष ईशराराम विश्नोई, रिड़मलसिंह राव, बाबुसिंह, दलपतसिंह, उदयसिंह, प्रेमसिंह, मफतसिंह, सतिशसिंह, हरिसिंह, पहाड़सिंह, जबरसिंह, धुड़ाराम प्रजापत, तुलसनाथ स्वामी, सांवलाराम चौधरी, उदाराम चौधरी, दुदाराम चौधरी, मोहनलाल मेघवाल, अर्जुननाथ सहित बड़ी संख्या में किसान मौजूद थे।

गोधाम पथमेडा संचालन समिति कार्यकारिणी बैठक में गोसेवा संबंधित महत्वपूर्ण लिए निर्णय

सांचौर। श्री गोधाम महातीर्थ आनन्दवन पथमेड़ा परिसर में उपखण्ड संचालन समिति सदस्यों एवं गोधाम पथमेड़ा द्वारा प्रत्यक्ष संचालित श्रीगोपाल गोवर्धन गोशाला पथमेड़ा, श्री महावीर हनुमान गोशाला गोलासन (नंदीशाला), ठाकुर गोशालाश्रम पालड़ी, खेतेश्वर गोशालाश्रम खिरोड़ी, गोकुल गोधाम गोशालाश्रम हिण्डवाड़ा, महर्षि वशिष्ठ गोशाला आमली, लक्ष्मीनारायण गोसेवाश्रम प्रतापपुरा, राजऋषि दिलीप गोसेवाश्रम विरोल, मनोरमा गोलोकतीर्थ नंदगांव, गुरूदत्तात्रेय गोशाला धानोल के पदाधिकारियों की संयुक्त बैठक हुई। इस महत्वपूर्ण बैठक में गोऋषि सभा कुटीर में गोऋषि स्वामी दतशरणानंद महाराज के सानिध्य एवं संचालन समिति के अध्यक्ष केवलाराम पुरोहित पालडी की अध्यक्षता में गोसेवा सम्बन्धित विषयों पर विस्तार पूर्वक चिन्तन मनन एवं चर्चा से सर्वसम्मति से कई आवश्यक निर्णय लिये गये। बैठक में गत वर्ष में अकाल की स्थिति में विभिन्न प्रकार के चारे की अनुपलब्धता से कमजोर हुए गोवंश के विषय पर विस्तारपूर्वक चर्चा हुई एवं इस समस्या के समाधान हेतु गोऋषि स्वामी दतशरणानंद महाराज ने कहा कि ज्वार, बाजरी की कुतर, ग्वातरी, मूंगफली, पराली का चारा मिश्रित करके गोवंश को परोसा जायें। साथ ही सभी गोशालाओं में कमजोर, वृद्ध एवं बीमार गोवंश को प्रतिदिन छोटे गोवंश को पांच सौ ग्राम एवं बड़े गोवंश को आठ सौ ग्राम बाजरा, मक्की, जौ आदि अनाज को भीगोकर बाद में चारे के साथ मिलाकर नियमित दोनों समय गोमाता को परोसे जानेका निर्णय लिया गया ताकि समस्त गोवंश का स्वास्थ्य शीघ्र ठीक हो और सर्दियों के प्रभावों से बचाव हो सके। उपरोक्त जानकारी देते हुये श्रीगोधाम महातीर्थ पथमेडा के राष्ट्रीय प्रवक्ता पूनम राजपुरोहित ने बताया कि बैठक में चर्चा के बाद सर्दी से गोवंश को बचाने हेतु विभिन्न गोशालाओं में पुराने गोगृहों की मरम्मत करवाने, नवीन कच्चे गोगृह बनाने एवं कच्चे पक्के बने हुए गोगृहों में ठंडी हवा से गोवंश की रक्षा हेतु आवश्यक नेट जाली लगाने, चारा परोसने हेतु बैलगाडिय़ों की व्यवस्था करने, चारा हेतु एवं खैलियां मरम्मत करने आदि निर्णय लेते हुए अगले एक माह हेतु समस्त गोशालाओं में चारा-दाणा, मजदूरी एवं दवाई के अलावा आवश्यक सामग्री का आवश्यक मांग पत्रक प्रस्तुत किया गया। श्री गोधाम पथमेड़ा द्वारा सांचौर, रानीवाड़ा एवं सिरोही जिले में प्रत्यक्ष संचालित गोशालाओं में संधारित कुल 40652 गोवंश के लिए है। इस गोवंश हेतु अगले एक माह के लिए कुल 7387 टन सुखा घासचारे की आवश्यकता रहेगी। जिसमें 1267 टन बाजरी कुतर, 2210 टन ग्वातरी, 1810 टन ज्वार डोका,600 टन ज्वार कुतर, 1150 टन चावल पराली, 100 टन मुंगफली चारा एवं 250 टन मुंगचारा की आवश्यकता रहेगी। इन गोवंश में से लगभग 22350 गोवंश अत्यन्त वृद्ध, कमजोर एवं बीमार अवस्था में है जिन्हें सर्दियों में अच्छे घास चारे के साथ-साथ लगातार अनाज एवं पौष्टिक आहार देने की आवश्यकता रहेगी। बैठक के दौरान श्री गोधाम महातीर्थ पथमेड़ा लोकपुण्यार्थ न्यास की आम सभा 13-14 जनवरी 2020 को नन्दगांव में आयोजित करने का भी निर्णय लिया गया। बैठक में थानापति रविन्द्रानन्द सरस्वती, महन्त नन्दरामदास महाराज, रामरतनदास महाराज, अनन्त चैतन्य महाराज, मुकुन्दप्रकाश महाराज, सीतारामदास महाराज, गोवत्स विेलकृष्ण, केसाराम सुथार, प्रवीण कुमार पालड़ी, गोधाम महाप्रबंधक प्रकाश डागा, डुंगराराम पुरोहित, चन्दनसिंह विरोल, दिनेश दांतिया, आलोक सिंहल, धुड़ाराम चौधरी, मेघराज मोदी, भाखराराम विश्नोई, श्यामसिंह राजपुरोहित, बिजलाराम चौधरी, चुन्नीलाल, घेवरचन्द शर्मा, नागजीराम चौधरी, मोहनलाल विठला, दानाराम चौधरी, महेन्द्रकुमार आमली, सांवलाराम चौधरी पालड़ी, पाबुराम विश्नोई, मावजीराम पालड़ी, मोटाराम खिरोड़ी, भगवानसिंह खिरोड़ी, केशाराम, हीराराम, पीराराम पालड़ी, रामाराम हिण्डवाड़ा सहित सैंकडों अन्य पदाधिकारी एवं ट्रस्टी उपस्थित थे।

सांसद पटेल ने संसद के शीतकालीन सत्र में किसानों की मांग रखी, बेमौसम बारिश एवं ओलावृष्टि से किसानों के फसल को हुए नुकसान का सर्वे करवाकर प्रधानमंत्री फसल बीमा योजनान्तर्गत क्लेम दिया जायें : सांसद पटेल

सांचौर। जालोर-सिरोही सांसद देवजी पटेल ने सोमवार से शुरू हुए संसद के शीतकालीन सत्र में किसानों की मांग रखी। सांसद पटेल ने बताया कि हमारा देश कृषि प्रधान देश हैं, लेकिन आज क्षेत्र में किसान परेशान हैं। संसदीय क्षेत्र में अधिकांश क्षेत्र में 13-14 नवम्बर 2019 को बेमौसम बारिश व ओलावृष्टि से किसानों के खेतों में पक्की हुई फसल मुंग, मोठ, गवार, मूंगफली, अरण्डी, मीर्च बर्बाद हो गई। किसानों द्वारा वर्षा ऋतु में पक्की हुई कटिंग की गई फसल खेतों में सुखने के लिए रखी हुई थी, अचानक बैमोसम बारिश से खराब हो गई, जिससे किसानों के अरमान पर पानी फैर दिया। सांसद पटेल ने बताया कि इस प्रकार अचानक बैमोसम बारिश व ओलावृष्टि होने पर किसानों द्वारा जानकारी के अभाव में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजनान्तर्गत अधिकृत कंपनी के सूचना देना संभव नहीं हो सका। जिसके संबंध में स्थानीय प्रशासन (कलक्टर) एवं कृषि विभाग के अधिकारियों को अवगत करवाकर क्षेत्र में अधिकृत बीमा कंपनी से सर्वे करवाकर किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजनान्तर्गत लाभान्वित करने की निर्देश की। प्रशासन एवं विभागीय अधिकारियों की मनमानी एवं क्षेत्र में अधिकृत बीमा कंपनी की मनमानी एवं लापरवाही के कारण उन्होंने 72 घंटे में कंपनी के टोल फ्री नंबर पर सूचना देने की बात की गई जबकि बीमा कंपनी के टोल फ्री नंबर पर कॉल रिसीव ही नहीं की जा रही हैं। जिससे किसनों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ मिलना संभव नहीं हैं।
बीमा कंपनी का ब्लॉक स्तर पर नहीं है कार्यालय
सांसद पटेल ने बताया कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में जिले में अधिकृत बीमा कंपनी का प्रत्येक ब्लॉक स्तर पर कार्यालय होना चाहिए लेकिन प्रशासन एवं विभागीय अधिकारियों की मिलीभगत से संसदीय क्षेत्र जालोर सिरोही में किसी भी ब्लॉक पर कार्यालय नहीं हैं, जिससे स्थानीय किसानों को समस्या रहती हैं।
केन्द्र सरकार स्तर से बीमा कंपनी को पाबंद किया जायें
सांसद पटेल ने संसद के माध्यम से पुरजोर मांग रखते हुए कहा कि केन्द्र सरकार स्तर से क्षेत्र में अधिकृत बीमा कंपनी को पाबंद कर संसदीय क्षेत्र में बेमौसम बारिश व ओलावृष्टि से किसानों के फसलों को हुए नुकसान का सर्वे करवाकर प्रधानमंत्री फसल बीमा योजनान्तर्गत किसानों को लाभान्वित किया जायें।
बीमा कंपनी की लापरवाही से खरीफ 2018 का अटका बीमा
सांसद पटेल ने संसद के माध्यम से केन्द्र सरकार को अवगत करवाते हुए बताया कि बीमा कंपनी की लापरवाही के कारण संसदीय क्षेत्र में वर्ष 2018 के खरीफ सीजन लगभग 300 करोड़ रूपये का बीमा लंबित हैं, जिससे फसल खराबे का किसानों को समय पर लाभ नहीं मिल पाया।

राजुरोहित कर्मचारी संघ सांचौर-चितलवाना कार्यकारिणी का गठन

सांचौर। राजपुरोहित कर्मचारी संघ सांचौर-चितलवाना की बैठक पुरोहित छात्रावास में विकास अधिकारी तुलसाराम पुरोहित की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक में नवीन कार्यकारिणी का गठन किया गया। जिसमें सर्वसम्मति से अध्यक्ष पद पर दयाराम भड़वल, उपाध्यक्ष पद पर जोगाराम चितलवाना, नागजीराम मेड़ा, हंसराज मालवाड़ा, सचिव पद पर जगदीश पुरोहित कारोला, सह सचिव पद पर प्रवीण कुमार अचलपुर, कोषाध्यक्ष पद पर मफतलाल रावल तथा कार्यकारिणी सदस्य तगाराम दाता, कनकराज सिवाड़ा, सांवलाराम पण्डया धमाणा, जयंतीलाल दांतिया, मूलचंद तांतड़ा, आसुराम खिरोड़ी, विक्रमसिंह डांगरियातथा राजश्री को नियुक्त किया गया। इस बैठक में डॉ. वासुदेव जोशी, मंजीराम डभाल, डूंगराराम बिछावाड़ी, भेराराम दाता, राजेंद्र कुमार डभाल, केसाराम आमली, अंबाराम धुड़वा, रामजीराम बिछावाड़ी, सांवलाराम रणोदर, राणाराम जैसला, दिनेश दाता, तुलसाराम झोटड़ा, पूराराम आमली, शांतिलाल जाजूसन, नरपतसिंह झोटड़ा, ईश्वरलाल, बाबुलाल रतोड़ा, सुरेश कुमार कारोला सहित कर्मचारी उपस्थित थे।